मुख्य समाचार
 

पाकिस्तान में भारतीय फिल्मों और टीवी कार्यक्रमों को दिखाने पर रोक: सुप्रीम कोर्ट


NAZO ALI SHEIKH 28/10/2018 15:16:28
351 Views

Lahore. पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय फिल्मों और टीवी कार्यक्रमों को दिखाने पर दोबारा रोक लगा दी है। अब पाकिस्तान में स्थानीय चैनलों पर भारत के कोई भी फिल्म और टीवी शो कार्यक्रम नहीं दिखाए जाएंगे। कोर्ट ने यह आदेश सुनाते हुए कहा कि यदि वे हमारे संविधान का उल्लंघन करना चाहते हैं, तो ऐसे में क्या हम उनके चैनलों को प्रतिबंधित तक नहीं कर सकते। यह आदेश जीफ जस्टिस साकिब निसार ने यूनाइटेड प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन की याचिका पर दिए हैं। एसोसिएशन ने कराची रजिस्ट्री में स्थानीय टीवी चैनलों पर विदेशी कार्यक्रम दिखाने संबंधी याचिका डाली थी।

यह भी पढ़ेंबिग बॉस में होगी इस विनर की री-एंट्री, मचेगा हंगामा

pakistan mein bhartiye filmon aur tv karyakramon ko dikhane par rok

  उच्च न्यायालय के आदेश को पलटा

सुप्रीम कोर्ट ने लाहौर उच्च न्यायालय के आदेश को पलटते हुए अपने आदेश को फिर से बहाल करते हुए फैसला सुनाया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, न्यायाधीश ने कहा कि केवल सही कंटेंट्स ही संबंधित अधिकारियों को दिखाने की कोशिश करनी चाहिए। आपको बता दें कि पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी (पेम्रा) ने 2016 में यह प्रतिबंध लगाया था। अब अपने उसी आदेश को फिर से लागू किया है।

यह भी पढ़ें... शाहरुख खान की शादी की सालगिरह पर जानें उनकी मैजिकल लव स्टोरी के बारे में...

pakistan mein bhartiye filmon aur tv karyakramon ko dikhane par rok

  हाईकोर्ट ने हटाई थी रोक

लाहौर हाईकोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के एक साल बाद 2017 में पेम्रा के द्वारा लगाए गए स्थानीय टीवी और एफएम रेडियो चैनलों पर प्रसारित होने वाले भारतीय कार्यक्रमों पर प्रतिबंध को निर्थक करार दिया था। साथ ही कार्यक्रमों को प्रसारित करने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार को इससे किसी भी तरह की आपत्ति नहीं थी।

Web Title: pakistan mein bhartiye filmon aur tv karyakramon ko dikhane par rok ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया