मुख्य समाचार
अपने बजट का पांच फीसद हिस्सा पशुओं के कल्याण में लगाएं राज्य: गिरीश रतन टाटा को हाईकोर्ट से मानहानि मामले में राहत, जानें पूरा मामला मॉब लिंचिंग पर फिर बोले नसीरुद्दीन शाह, परिजनों से मिलकर कहा- साहस को... ट्रामा में फैला खतरनाक फंगस, कारगर दवा नहीं, अलर्ट जारी समलैंगिक विवाह के लिए कोर्ट पहुंचीं दो युवतियां, मजिस्ट्रेट ने नहीं लिया आवेदन, जानें वजह 10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार!
 

आलोक वर्मा से जुड़े तमाम दस्तावेज सीवीसी को सुपुर्द करेगी सीबीआई 


GAURAV SHUKLA 29/10/2018 10:32 AM
104 Views

Lucknow. भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद छुट्टी पर भेजे गये सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा के खिलाफ सीवीसी जांच शुरु हो गयी है। ऐसे में सीबीआई आलोक वर्मा से जुड़े तमाम दस्तावेज सीवीसी के सुपुर्द करेगी। माना जा रहा है कि सीबीआई 29 अक्टूबर को यह दस्तावेज सीवीसी को सोंपेगी। आपको बता दें कि सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने आलोक वर्मा पर कई संगीन आरोप लगाए थे। जिसके बाद दोनों के बीच बढ़ते विवाद के चलते दोनों को छुट्टी पर भेज दिया गया था। ऐसे में माना यह भी जा रहा है कि सीवीसी सीबीआई के तकरीबन एक दर्जन से अधिक अधिकारियों को पड़ताल कर सकती है। जिसमें आलोक वर्मा, राकेश अस्थाना, इंट डायरेक्टर अरुण कुमार शर्मा, ए साई मनोहर, डेप्युटि इंसपेक्टर जनरल मनीष सिन्हा, एसपी जगरूप गुसिन्हा, डीएसपी अजय बस्सी, देवेंद्र कुमार और इंसपेक्टर अश्विनी गुप्ता से भी पूछताछ संभव है। 

Alok verma se jude document CVC ko degi CBI
सीवीसी ने ही अपने आदेश में कहा था कि आलोक वर्मा अस्थाना पर लगाए गये आरोपों की जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं ऐसे में उन्हें पद से हटा देना चाहिए। जिसके बाद आलोक वर्मा द्वारा दायर की गयी याचिका पर सुनवाई करते हुए ही सुप्रीम कोर्ट ने सीवीसी से जांच को दो हफ्तों के भीतर पूरा करने को कहा है। अस्थाना ने यह भी कहा था कि तकरीबन ऐसे 10 मामले हैं जिनमें आलोक वर्मा ने जांच में हस्तक्षेप किया है। जिसके बाद सिन्हा ने अपनी शिकायत को सीवीसी को 30 अगस्त को भेजा था। 

Web Title: Alok verma se jude document CVC ko degi CBI ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया