मुख्य समाचार
शाकिब ने रचा इतिहास, वर्ल्‍ड कप में कपिल-युवराज के रिकॉर्ड की बराबरी की क्षेत्र-जिला पंचायत सदस्यों के रिक्त पदों पर उप निर्वाचन के लिए समय सारणी जारी  Tik Tok वीडियो से सुर्खियों में आई पीली साड़ी वाली महिला जेनेलिया डिसूजा के पैर दबाते रितेश देशमुख का वीडियो वायरल, यूजर्स ने कहा... जल्द ही 100 करोड़ का आंकड़ा छू सकती फिल्म कबीर सिंह सपा संरक्षक की होगी सर्जरी, इस गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं मुलायम कोल्ड ड्रिंक पीने से एक ही परिवार के 5 लोग पहुंचे अस्पताल, फिलहाल खतरे से बाहर इटौंजा प्रकरण : एसएसपी ने कॉस्टेबल को किया लाइन हाजिर, चौकी प्रभारी व थानाध्यक्ष पर भी कार्रवाई प्रचलित  राजस्थान: बीजेपी प्रमुख मदन लाल सैनी का लंबी बीमारी के बाद निधन दो पक्षों में विवाद के बाद जमकर चले लाठी डंडे, वीडियो वायरल
 

अखिलेश इस वजह से नहीं छूते हैं वरिष्ठ नेताओं के पैर, इस दिग्गज नेता ने दी थी सलाह


ABHIMANYU VERMA 30/10/2018 10:43:41
257 Views

Lucknow. अखिलेश यादव वर्तमान समय में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर आसीन हैं। उनको इस पार्टी की कमान कैसे मिली इसको लेकर एक नयी बात सामने आयी है। मशहूर पत्रकार प्रिया सहगल ने अपनी नई किताब The Contenders में इसका जिक्र किया है। प्रिया ने अपनी किताब में उस बैठक के बारे में लिखा है, जिसमें अखिलेश यादव को पार्टी का अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव सबसे पहले अमर सिंह की तरफ से रखा गया। 

Akhilesh Yadav Special Story

प्रिया ने अपनी किताब में लिखा है कि साल 2007 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को मिली हार को लेकर मंथन का दौर शुरू हुआ। तब उस समय पार्टी के रणनीतिकार की भूमिका निभा रहे अमर सिंह ने अखिलेश को अध्यक्ष बनाने की बात कही थी। दरअसल मुलायम सिंह यादव के आवास पर एक कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसमें अमर सिंह, जया प्रदा, जया बच्‍चन और रामगोपाल यादव मौजूद थे। इस दौरान अमर सिंह ने कहा कि नए दौर की राजनीति को नई उम्र के नेता की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अखिलेश नई पीढ़ी को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं।

यह भी पढ़ें:-.....राहुल के इस बयान से सो नहीं पाएं शिवराज, आधी रात को उठाया बड़ा कदम

बैठक में मौजूद बाकी सभी ने इसका समर्थन किया। हालांकि, उस बैठक में इस प्रस्ताव पर कोई फैसला नहीं लिया जा सका। इस दौरान मुलायम ने कहा कि वह इस बारे में पार्टी के विचारक जनेश्‍वर मिश्र से बात करेंगे। वहीं, जब जनेवश्‍वर मिश्र ने जब इस प्रस्‍ताव का समर्थन किया तो मुलायम को बेहद हैरानी हुई। 

इसके बाद से खुद मिश्र ने अखिलेश को राजनीति में संवारना शुरू कर दिया। साथ ही उन्होंने वरिष्‍ठ नेताओं के पैर न छूने की सलाह अखिलेश को दी थी। उनका कहना था कि सम्‍मान ही देते रहोगे तो उन्‍हें अनुशासन में कैसे लाओगे? 

Web Title: Akhilesh Yadav Special Story ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया