मुख्य समाचार
जानिए जातिवाद पर हरियाणा हाईकोर्ट ने क्या टिप्पणी की स्वरा भास्कर के निशाने पर आईं प्रज्ञा ठाकुर, हेमंत पर दिया था बयान वेडिंग एनिवर्सरी पर अभिषेक ने शेयर की ऐश की फोटो, लिखा हनी मून, फैंस बोले इतना गुरूर... कॉफी विद करण मामला : पांड्या और राहुल पर लगा 20-20 लाख रुपये का जुर्माना बाइक पोल से टकराई, युवक की मौत अधिकारियों को नहीं दिखाई पड़ रहा आचार संहिता का उल्लंघन मथुरा में आइसक्रीम फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव,15 की ​बिगड़ी तबियत मोदी ने इस नेता को बताया स्पीड ब्रेकर शूट के दौरान विक्की कौशल को आई गंभीर चोटें अपने सबसे बड़े चुनावी वादे को लेकर बुरी फंसी कांग्रेस सुरवीन चावला के घर आई नन्ही परी, देखें तस्वीर खोदा पहाड़ निकली चुहिया साबित होगा नकली भतीजा-बुआ का गठबंधन : केशव मौर्य एलएचबी कोच बने सुरक्षा कवच, बची भीषण तबाही स्पाइसजेट बना जेट के कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों सहित 500 लोगों को दी नौकरी जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन पूर्वा एक्सप्रेस हादसे के चलते बाधित हुआ हावड़ा रूट पर ट्रेनों का संचालन कोहली की पारी ने दिखाया कमाल, 10 रन से जीती RCB नोट्रे डेम को पहले जैसा बनाना चाहते हैं मैक्रों, येलो वेस्ट प्रदर्शन से बिगड़ी छवि को सुधारने की कवायद सीएम योगी बोले- बाबा साहेब ने न किया होता यह काम, तो आज भी किसी जमींदार के यहां भैंस चरा रहे होते अखिलेश 
 

टाइटेनिक से भी बड़ी थी डोना पेज की घटना, मारे गए थे 4000 लोग


ABHIMANYU VERMA 03/11/2018 18:06:47
388 Views

Lucknow. टाइटैनिक फिल्म तो आपने देखी ही होगी। इस फिल्म के अंत में पानी का एक विशाल जहाज समुद्र में डूब जाता है और इसमें सवार करीब 2222 लोगों में से करीब 1500 लोगों की मौत हो जाती है और 706 बच पाते हैं, लेकिन ये फिल्म नहीं बल्कि 14 अप्रैल, 1912 में घटित हुई एक घटना थी, जिसे अमेरिकन जेम्स कैमरन के निर्देशन में 1997 में फिल्म के रूप में पेश किया गया। वहीं, इतिहास को उठाकर देखें तो इस तरह की एक और घटना साल 1987 में फिलीपींस में हुई, यह इतनी बड़ी घटना थी कि इसमें करीब 4000 हजार लोगों की मौत हो गयी थी। इसलिए इसे एक आपदा का नाम दिया गया। 

Ferry Dona Paz incident was bigger than Titanic

  एमवी डोना पाज़ (Ferry Dona Paz 1987)

रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 1987, 20 दिसंबर को MV Dona Paz नाम का एक बड़ा जहाज, जिसमें करीब 4,386 लोग सवार थे। फिलीपींस में मनीला के पास से गुजर रहा था। इस दौरान इसकी टक्कर एक तेल टैंकर से हो गयी। जिसके बाद इसमें आग लग गयी और करीब 4000 हजार लोगों की मौत हो गयी। मारे गए लोगों में पुरुषों के साथ महिला और बच्चे भी थे। 

बताया जाता है कि ये घटना लापरवाही और जहाज पर क्षमता से ज्यादा भार होने के कारण हुई। Sulpicio Lines का ये जहाज फिलीपींस के कई द्वीपों से 1400 लोगों को लाने वाला था, लेकिन इस पर बोर्ड द्वारा 4000 हजार लोगों को ले जाने की अनुमति देने का फैसला एक बड़ी दुर्घटना का कारण बना। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्रिसमस के महज कुछ ही दिन रह गए थे, 20 दिसंबर को, यह लेयटे द्वीप पर मनीला तक टैकोलोन जा रहा था। इस दौरान जहाज की क्षमता से ज्यादा लोग यात्रा पर जाना चाहते थे। लोगों की मांग पर कंपनी ने लगभग 4,000 लोगों को ले जाने की अनुमति दे दी। 375 मील की यात्रा के दौरान रात्रि गिरने के रूप में यात्री गलियारों में गद्दे और मैट दिये गए थे।

यात्रा शुरू हो गयी थी रात के करीब 10 बज चुके थे, जहाज के अधिकारी शराब पीने और टीवी देख रहे थे, जबकि एक प्रशिक्षु अधिकारी पर अकेले जहाज की पूरी ज़िम्मेदारी दे दी गयी। उसने व्यस्त तबलस से मार्ग से मनीला के दक्षिण 110 मील तक संचालन किया। उसी वक्त उस मार्ग से 8,000 बैरल तेल से भरा 629 टन का विक्टर टैंकर मासबेट द्वीप के लिए जा रहा था। इस दौरान Dona Paz और तेल के टैंकर में टक्कर हो गयी और एक बड़ा विस्फोट हुआ। 

विस्फोट इतना तेज था कि Dona Paz में भीषण आग लग गयी। जहाज में सवार लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर से उधर भागने लगे। लेकिन टैंकर और जहाज दोनों ही डूब गए। इस हादसे में करीब 4000 लोगों की मौत हो गयी और सिर्फ़ 24 लोगों को ही बचाया जा सका। इस हादसे में कितने लोगों की जान गयी। इसका कोई ठीक अनुमान नहीं है। 

Web Title: Ferry Dona Paz incident was bigger than Titanic ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया