मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

संतों का मोदी सरकार को आदेश, चुनाव से पहले मंदिर पर आए बिल या अध्यादेश


GAURAV SHUKLA 05/11/2018 12:38 PM
167 Views

Lucknow. देशभर से आए संतों ने आयोजित सम्मेलन के दौरान आखिरी दिन कहा कि राम मंदिर पर प्रस्ताव लाकर चुनाव से पहले मंदिर निर्माण का काम हो, फिर इसके लिए चाहे अध्यादेश लाया जाए या फिर कानून बनाया जाए। इसी के साथ संतों ने अल्टीमेटम देते हुए यह भी कहा कि यह आग्रह नहीं बल्कि आदेश है। सम्मेलन के दौरान अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री स्वामी जितेन्द्रानंद सरस्वती ने कहा कि अब मंदिर निर्माण को लेकर कोई समझौता नहीं होगा। बावजूद इसके अगर ऐसा होता है तो अपना अलग रास्ता भी हमको पता है। 

ram mandir ko lekar santo ka altimatum
गौरतलब है कि सम्मेलन के दौरान किस तरह राम मंदिर मुद्दे का फायदा भाजपा सरकार को मिले इसको लेकर भी संतों ने पूरी कोशिश की। सम्मेलन के दौरान ही एक बार फिर पीएम मोदी की अगुवाई वाली भाजपा सरकार को सत्ता में लाने का प्रस्ताव भी पास हुआ। इस दौरान श्री श्री रविशंकर ने यह भी कहा कि संतों को मंदिर की जरूरत नहीं है वह जहां भी होते हैं मंदिर वहीं होता है। लेकिन देश के लाखों लाख लोग जनता चाहती है कि मंदिर बने। इसके लिए प्रयत्न और प्रार्थना दोनें ही रास्ते अपनाए जाएंगे। 


ram mandir ko lekar santo ka altimatum

हमसे राम का प्रमाण मांगा जाता है। प्रमाण भी दे दिया फिर भी फैसला लेने में संकोच हो रहा है। राम भक्तों को खुशखबरी का लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। छह नवंबर को दिवाली मनाने के लिए दक्षिण कोरिया का एक प्रतिनिधिमंडल अयोध्या पहुंच रहा है और भगवान राम की जन्मस्थली में बड़े पैमाने पर दिवाली मनाई जाएगी।
                           - योगी आदित्यनाथ, सीएम उत्तर प्रदेश


 

ram mandir ko lekar santo ka altimatum

कोई ताकत अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण से नहीं रोक सकती। अयोध्या का विकास हमारी प्राथमिकता है। फिलहाल मामला सुप्रीम कोर्ट में है लेकिन कुछ भी हो जाए बाबर के नाम की एक भी ईंट नहीं रखी जाएगी।
- केशव प्रसाद मौर्या, डिप्टी सीएम उत्तर प्रदेश 


 

Web Title: ram mandir ko lekar santo ka altimatum ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया