मुख्य समाचार
KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल
 

विलफुल डिफॉल्टर की लिस्ट नहीं देने पर CIC ने RBI को दी नोटिस


NAZO ALI SHEIKH 05/11/2018 17:49:55
118 Views

New Delhi. केंद्रीय सूचना आयोग ने जानबूझ कर कर्ज न चुकाने वालों की सूची का खुलासा नहीं करने पर आरबीआई गर्वनर उर्जित पटेल को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयोग ने इस मामले में 16 नवंबर तक जवाब मांगा है।

यह भी पढ़ें... सरकार ने आरबीआई को लिखा शिकायती पत्र, 83 साल में पहली बार किया धारा 7 का इस्तेमाल

willful defaulter ki list nhi dene par CIC ne RBI ko di notice

  लिस्ट जारी करने से किया इंकार

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने आरबीआई को विलफुल डिफॉल्टर की लिस्ट जारी करने को कहा था, लेकिन आरबीआई द्वारा लिस्ट जारी नहीं की गई, जिस पर आयोग ने कहा कि यह सुप्रीम कोर्ट की अवमानना है। सीआईसी ने प्रधानमंत्री कार्यालय, वित्त मंत्रालय को डूबे कर्ज पर आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के पत्र को सार्वजनिक करने को कहा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी 50 करोड़ या इससे ज्यादा का लोन न चुकाने वाले लोगों के नाम बताने से इनकार करने पर सीआईसी ने आरबीआई की घोर निंदा की है।

यह भी पढ़ें... नेपाल के एफएम में बज रहा सपा का गाना, केहू होई लेकिन अखिलेश न होई

  नोटिस में किये ये सवाल

सीआईसी ने रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल से नोटिस में यह पूछा है कि क्यों न उन पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की अवमानना करने के जुर्म में ज्यादा से ज्यादा जुर्माना लगाया जाए। अदालत ने सूचना आयुक्त शैलेश गांधी के उस फैसले को बरकरार रखा था, जिसमें विलफुल डिफॉल्टर के नामों की लिस्ट जारी करने को कहा गया था। सीआईसी ने सीवीसी में पटेल की ईमानदारी और सत्यनिष्ठा को बढ़ावा देने के बयान का भी जिक्र किया।

willful defaulter ki list nhi dene par CIC ne RBI ko di notice

कथनी करनी में अंतर

सूचना आयुक्त श्रीधर आचार्युलू ने कहा, आयोग को यह महसूस हो रहा है कि आरटीआई की नीति को लेकर आरबीआई गवर्नर और डिप्टी गवर्नर की उनकी वेबसाइट पर लिखी बातों और उनके द्वारा कही गई बातों में बहुत अंतर है या यूं कहें कि इन दोनों बातों में कोई समानता नहीं है।

Web Title: willful defaulter ki list nhi dene par CIC ne RBI ko di notice ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया