मुख्य समाचार
किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर बाढ़ और बारिश से बेस्वाद हुई दाल, टमाटर हुआ लाल, इन सब्जियों के बढ़े 50 फीसदी दाम मॉब लिंचिंग पर सपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं मुसलमान अब इस दिग्गज ने की प्रियंका के नाम की वकालत बाढ़ से बेहाल असम-बिहार, ताजा तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर पीड़ितों ने कौन सा अपराध किया जो उन्हें मुझसे मिलने से रोका जा रहा : प्रियंका AKTU : यूपीएसईई – 2019 की काउंसलिंग का तीसरा चरण आज से शुरु ICC के फैसले से सदमे में जिम्बाब्वे की टीम प्लेसमेंट ड्राइव में 5 से 7 लाख के पैकेज के साथ आई कंपनी, 120 छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग मंचीय कविता के आखिरी स्तम्भ थे नीरज : लक्ष्मी नारायण चौधरी एजाज खान के अरेस्ट होने के बाद ट्वीटर पर छाए मीम्स- यूजर्स बोले... ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए मैंगो फूड फेस्टिवल का आयोजन : डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा तेजबहादुर की याचिका पर पीएम मोदी को नोटिस
 

श्रीलंका में राष्ट्रपति ने भंग की संसद, पश्चिमी देश भड़के


RAGHVENDRA CHAURASIA 11/11/2018 13:46 PM
139 Views

Colombo. श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना द्वारा संसद भंग करने के फैसले से पश्चिमी देश भड़क गए हैं। अमेरिका और ब्रिटेन ने श्रीलंका के राष्ट्रपति के इस फैसले की आलोचना की है। 

Shrilanka Ke Rastrpati Ne Sansad Ki Bhang

यह भी पढ़ें... बुआ-बबुआ ने मोदी सरकार को कोसा, बसपा सुप्रीमों ने नोटबंदी को बताया..

  राष्ट्रपति ने संसद भंग करने का आदेश जारी किया था

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने संसद को भंग करने का आदेश शुक्रवार को जारी किया था। श्रीलंका के पीएम विक्रमसिंघे को बर्खास्त कर महिंद्रा राजपक्षे सरकार बनाना चाहते थे, लेकिन बहुमत साबित न होने पर राष्ट्रपति को संसद भंग करना पड़ा। इसके साथ ही राष्ट्रपति ने अगले चुनाव की तारीख का एलान भी कर दिया है। 

  अमेरिका ने कहा लोकतंत्र का सम्मन होना चाहिए

अमेरिकी ब्यूरो ने ट्वीट में कहा कि अमेरिका-श्रीलंका के हालातों को लेकर काफी चिंतित हैं। इसमें कहा गया कि स्थायित्व और समृद्धि सुनिश्चित करने के लिए लोकतंत्र का सम्मान होना चाहिए। एशिया और पैसिफिक के ब्रिटिश मंत्री मार्क फिल्ड ने भी संसद भंग करने के फैसले को लेकर चिंता जताई है। मार्क ने कहा कि श्रीलंका के दोस्त के नेता ब्रिटेन सभी पक्षों से संविधान की सर्वोच्चता और लोकतंत्र के सम्मान की अपील करता है। 

  कनाडा और आस्ट्रेलिया लंका के हालातों पर की टिप्पणी

श्रीलंका के हालातों पर सिर्फ अमेरिका—ब्रिटेन नहीं, बल्कि आस्ट्रेलिया व कनाडा ने भी टिप्पणी कर​ चिंता जताई है। सिरिसेना ने कहा कि उन्होंने विक्रमसिंघे को इसलिए बर्खास्त किया था, क्योंकि वह विदेश नीति को ज्यादा तवज्जो देते हुए स्थानीय भावनाओं को नजरअंदाज करने के नए एक्सट्रीम लिबरल पॉलिटिकल कॉनसेप्ट को लागू कर रहे थे। 

राष्ट्रपति सिरिसेना को बताया तानाशाह

श्रीलंका के पूर्व पीएम विक्रमसिंघे के सहयोगी मंगला समरवीरा ने कहा कि हमारी पार्टी कोर्ट के इस फैसले को स्वीकार करती है। संसद को भंग करना गैरकानूनी था और अंतत: संसद में वोट का परीक्षण किया जाएगा, जिससे साबित होगा बहुमत किस पार्टी के पास है। समरवीरा ने मीडिया से बात ​करते हुए बड़ा बयान दिया है। समरवीरा ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना को तानाशाह करार दिया है। उन्होंने कहा हम दिखाएंगे संसद में बहुमत किसके पास है।

यह भी पढ़ें... सीवीसी को सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ जांच में नहीं मिला कोई ठोस सबूत

 

Web Title: Shrilanka Ke Rastrpati Ne Sansad Ki Bhang ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया