मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

एमपी चुनाव से पहले ही भाजपा ने मानी हार, केंद्रीय मंत्री भी नहीं दे रहे शिवराज का साथ 


ABHIMANYU VERMA 18/11/2018 12:31:57
749 Views

Bhopal. एमपी विधानसभा चुनाव के लिए एक तरफ जहां कांग्रेस के नेता एड़ी-चोटी का ज़ोर लगाए हुए हैं तो वहीं, दूसरी तरफ सत्ता धारी भाजपा के केंद्रीय मंत्री इस चुनाव को लेकर कुछ खास रुचि लेते नहीं दिखाई पड़ रहे हैं। भाजपा के नेताओं ने शिवराज सिंह चौहान को इस चुनाव में सत्ता बचाने के लिए मानों अकेला छोड़ दिया है।  

Union ministers quit Shivraj Singh Chauhan in MP assembly elections

एक अखबार में छपी खबर में कहा गया है कि एमपी चुनाव में अब तक सीएम शिवराज सिंह चौहान को अकेले ही सत्‍ता बचाने छोड़ दिया गया है। राज्य से आने वाले केंद्रीय मंत्री जिनमें उमा भारती, थावरचंद गहलोत और सुषमा स्‍वराज इस चुनाव में अपने सीएम के साथ पूरी मजबूती के साथ खड़े नजर नहीं आ रहे हैं।  

Union ministers quit Shivraj Singh Chauhan in MP assembly elections

वहीं, लोकसभा चुनाव के लिहाज से देखें तो एमपी एक अहम राज्य है। लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी भी अन्य राज्यों की अपेक्षा यहां पर कम रैलियों को संबोधित करने वाले हैं। पीएम मोदी राज्‍य में सिर्फ 11 रैलियां ही करेंगे। बता दें कि पीएम मोदी ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए 21 जनसभाएं तथा गुजरात चुनाव में 34 रैलियां की थीं।

यह भी पढ़ें:-....... राजस्थान में कांग्रेस का बड़ा दांव, भाजपा के खिलाफ इस दिग्गज नेता को उतारा मैदान में

   अनिल दवे के निधन से भाजपा पर असर

प्रदेश में भाजपा के रणनीतिकार रहे अनिल दवे के निधन से पार्टी की राजनीति पर साफ असर देखने को मिल रहा है। भाजपा में दवे जिस जिम्मेदारी को प्रदेश में अकेले संभालते थे, उसे संभालने के लिए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, धर्मेद्र प्रधान, भाजपा के प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा सहित कई प्रमुख नेता मिलकर संभाल रहे हैं, इसके बावजूद पार्टी में न तो सामंजस्य बन पा रहा है और न ही बगावत को थामा जा सका है।

Union ministers quit Shivraj Singh Chauhan in MP assembly elections

   कांग्रेस के नेता एकजुट

वहीं, दूसरी तरफ सत्ता से बाहर चल रही कांग्रेस के सभी नेता चुनाव को लेकर अपनी पूरी ताकत झोंकने में लगे हुए हैं। जिससे राज्‍य में कांग्रेस को इस बार जीत की प्रचंड संभावना दिख रही है। पार्टी में नेतृत्‍व को लेकर कुछ असमंजस की स्थिति जरूर है। एमपी में प्रचार समिति के प्रमुख और राहुल गांधी के करीबी होने के नाते, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को कांग्रेस का मुख्‍यमंत्री उम्‍मीदवार माना जा रहा था। 

Union ministers quit Shivraj Singh Chauhan in MP assembly elections

लेकिन कमलनाथ ने जिस आक्रामक अंदाज में प्रचार किया है, उससे सीएम की रेस में वह भी दिखाई दे रहे हैं। सीएम उम्‍मीदवार तय करने में अहम भूमिका अदा करने वाले अहमद पटेल, मुकुल वासनिक, मधुसूदन मिस्‍त्री, वीरप्‍पा मोइली और अशोक गहलोत नेताओं का भी समर्थन कमलनाथ को मिल रहा है। 

Union ministers quit Shivraj Singh Chauhan in MP assembly elections

Web Title: Union ministers quit Shivraj Singh Chauhan in MP assembly elections ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया