कमलनाथ का बड़ा खुलासा: मायावती की इन मांगों के चलते नहीं हो पाया कांग्रेस-बसपा गठबंधन


ABHIMANYU VERMA 23/11/2018 11:10:58
1521 Views

Bhopal. मध्य प्रदेश में कांग्रेस की तरफ से सीएम पद के लिए प्रबल दावेदारों में से एक कमलनाथ ने बसपा से गठबंधन न होने के पीछे के कारणों का खुलासा किया है। विधानसभा चुनाव में गठबंधन न हो पाने की वजह से पर्दा हटाते हुए कमलनाथ ने बताया कि दोनों पार्टियों के बीच सहमति न बन पाने की पहली वजह सीटों की संख्या थी और दूसरी वजह विशेष सीटों की मांग को लेकर मतभेद। 

Kamal Nath said - Why can not the BSP and Congress coalition

कमलनाथ ने चुनाव प्रचार के दौरान एक न्यूज़ चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि बसपा की ओर से जो सीटें मांगीं जा रहीं थीं, उन पर जीत का न कोई तालेमल नजर आ रहा था और न कोई फार्मूला दिख रहा था। बसपा सुप्रीमो ने कांग्रेस से ऐसी सीटों की मांग की थी, जहां उन्हें हजार वोट से ज्यादा नहीं मिल पाते। उन्होंने बताया कि कांग्रेस ने बसपा को 25 सीटें ऑफर की थी। यहां तक कह दिया गया था कि अगर वो भाजपा को हराने में समर्थ है तो उन्हें 230 में से 30 सीटें भी पार्टी देने को तैयार है, लेकिन मायावती 50 सीटों से कम पर गठबंधन करने को तैयार नहीं थीं। 

यह भी पढ़ें:-...लोकसभा से पहले हो सकता है जम्मू-कश्मीर का चुनाव: मुख्य निर्वाचन आयुक्त

Kamal Nath said - Why can not the BSP and Congress coalition

वहीं, चुनाव के नतीजों को लेकर संभावित आंकड़ों को सिरे से खारिज करते कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा कि जिन सीटों पर मायावती जोर दे रहीं थीं, अगर वे सीटें उन्हें दी जातीं तो एक तरह से ये सीटें भाजपा को गिफ्ट के तौर पर मिल जातीं। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि मायावती छिंदवाड़ा और इंदौर में एक सीट चाहती थीं। जहां वे एक हजार से ज्यादा वोट नहीं पा सकतीं थीं। फिर भी ये सीटें वह क्यों चाहतीं थीं, वो नहीं जानते। यही वजह है कि गठबंधन को लेकर बातचीत विफल हो गई। 

Kamal Nath said - Why can not the BSP and Congress coalition

Web Title: Kamal Nath said - Why can not the BSP and Congress coalition ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया