मुख्य समाचार
किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर बाढ़ और बारिश से बेस्वाद हुई दाल, टमाटर हुआ लाल, इन सब्जियों के बढ़े 50 फीसदी दाम मॉब लिंचिंग पर सपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं मुसलमान अब इस दिग्गज ने की प्रियंका के नाम की वकालत बाढ़ से बेहाल असम-बिहार, ताजा तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर पीड़ितों ने कौन सा अपराध किया जो उन्हें मुझसे मिलने से रोका जा रहा : प्रियंका AKTU : यूपीएसईई – 2019 की काउंसलिंग का तीसरा चरण आज से शुरु ICC के फैसले से सदमे में जिम्बाब्वे की टीम प्लेसमेंट ड्राइव में 5 से 7 लाख के पैकेज के साथ आई कंपनी, 120 छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग मंचीय कविता के आखिरी स्तम्भ थे नीरज : लक्ष्मी नारायण चौधरी एजाज खान के अरेस्ट होने के बाद ट्वीटर पर छाए मीम्स- यूजर्स बोले... ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए मैंगो फूड फेस्टिवल का आयोजन : डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा तेजबहादुर की याचिका पर पीएम मोदी को नोटिस
 

संगीनों के साए में अयोध्या, सियासी गर्मी के बीच सीएम नागपुर में 


GAURAV SHUKLA 23/11/2018 12:48 PM
298 Views

Lucknow. अयोध्या में चुनाव के साथ ही बढ़ी सरगर्मी के बाद जिला प्रशासन पूरी तरह से हलकान है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और विहिप की धर्मसभा में उमड़ती भीड़ को देख शांति व्यवस्था बनाए रखने का जिम्मा संभाल रहे अधिकारियों के पसीने एसी कमरों में छूटते हुए देखे जा रहे हैं। कार्तिक पूर्णिमा के साथ ही शुक्रवार को अयोध्या में लोगों का भारी संख्या में जमावड़ा दिखाई दे रहा है। वहीं, अयोध्या में हो रहे संपूर्ण घटनाक्रम के बीच सबसे चौंकाने वाला तथ्य यह है कि इस पूरे माहौल से सीएम खुद नदारद हैं। रामभक्तों को न्याय दिलाने की पैरोकारी करने वाले जो खुद को इस आंदोलन का अगुवा होने का दावा करते हैं, वह 26 सालों बाद होने वाली इस धर्मसभा से गायब रहेंगे। सीएम इस बीच अयोध्या ही नहीं यूपी से दूर नागपुर में होंगे।

sangino ke saye me ayodhya cm yogi nagpur me  

मुख्यमंत्री के इस तरह प्रदेश से बाहर होने को लेकर एक सवाल, जो सभी के जेहन में उठ रहा है वह है कि जिस तरह से योगी आदित्यनाथ राम मंदिर आंदोलन की अगुवाई करते और अयोध्या में दीपावली मनाने की पैरवी करते दिखाई देते हैं, वह उस दिन धर्मसभा से कैसे गायब हैं, जब मंदिर निर्माण पर सबसे बड़ा मंथन होने वाला है। मुख्यमंत्री के मौजूदा कार्यक्रम के अनुसार, वह 24 नवबंर से ही मध्य प्रदेश और राजस्थान के चुनावी दौरे पर हैं। शुक्रवार को दोपहर तकरीबन 12.45 के बाद ही वह नागपुर के लिए निकल जाएंगे। फिर नागपुर से वह सीधे देव दीपावली कार्यक्रम में पहुचेंगे।

sangino ke saye me ayodhya cm yogi nagpur me

 जहां एक ओर अयोध्या में तैयारियों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गैर मौजूदगी तमाम सवाल खड़े कर रही है। वहीं, इस समय प्रशासनिक अधिकारी अपनी खुद की साख बचाने में लगे हुए हैं, जिसके चलते बैठक और नई रणनीतियों का दौर पूरे उफान पर है। इसी कड़ी में गुरुवार को भी कमिश्नर, डीएम और डीआईजी समेत सुरक्षा के कई बड़े अधिकारियों के बीच हाईलेवल बैठक हुई। बैठक के बाद सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के पालन को लेकर चर्चा हुई और सीसीटीवी कैमरे, ड्रोन कैमरे, 48 कम्पनी पीएसी और सिविल पुलिस से पूरी तरह अयोध्या को लैस कर दिया गया। इस बीच शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद के लोग भी अपनी तैयारियों को धार देने में पीछे नहीं रहे। अयोध्या समेत आस-पास के इलाकों में शिवसेना की तरफ से पहले मंदिर फिर सरकार, राम लला के वास्ते समेत कई स्लोगन लिखे बैनर, पोस्टर से पूरी तरह शक्ति प्रदर्शन का प्रयास किया गया। 

sangino ke saye me ayodhya cm yogi nagpur me

सूत्रों के अनुसार बड़ी संख्या में शिवसैनिकों के पहुंचने की खबर से प्रशासन पूरी तरह सतर्क दिखा। डीएम डॉक्टर अनिल कुमार पाठक यह कहते हुए नजर आए कि दर्शन पर कोई रोक नहीं है, लेकिन सुरक्षा के मद्देनजर सीमित संख्या में ही लोगों को विवादित परिसर में विराजमान रामलला के दर्शनों के लिए भेजा जाएगा। वहीं 23 नवंबर से ही 25 नवंबर तक अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था किले सरीखे होगी। 

sangino ke saye me ayodhya cm yogi nagpur me
तेज तर्रार अधिकारियों की हो रही तैनाती 

आस्था की नगरी अयोध्या में होने वाली इस धर्मसभा से पहले मिल रहे इनपुट पर गुरुवार देर रात बैठक में सूबे के पुलिस मुखिया ने अधिकारियों का मार्गदर्शन किया। इसी के साथ दो तेज तर्रार अधिकारी आशुतोष पांडेय और सुभाष सिंह बघेल को सुरक्षा की कमान सौंप दी। सुरक्षा के मद्देनजर अयोध्या को कुल 8 जोन और 16 सेक्टर में विभाजित कर दिया गया। हर जोन व सेक्टर के जिम्मेदारी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को सौंप दी गयी। पीएसी बल बढ़ाने के साथ ही पुलिस अधीक्षक स्तर पर पांच और अपर पुलिस अधीक्षक स्तर पंद्रह व 19 सीओ की अतिरिक्त तैनाती की गई है। अयोध्या की मौजूदा स्थिति को देखते हुए ब्लैक कमांडो की तैनाती भी कर दी गयी है। 

 

sangino ke saye me ayodhya cm yogi nagpur me

Web Title: sangino ke saye me ayodhya cm yogi nagpur me ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया