16 सालों बाद बदला मुख्यमंत्री की सुरक्षा का प्लान 


GAURAV SHUKLA 01/12/2018 13:39 PM
244 Views

Lucknow. यूपी सीएम की बढ़ती लोकप्रियता के बाद बीजेपी लगभग सभी चुनावों में उन्हें स्टार प्रचारक के तौर पर मैदान में उतार रही है। दूसरे राज्यों में भी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की डिमांड इतनी ज्यादा है कि उनकी लगातार यात्राओं को देखते हुए आने वाले लोकसभा चुनावों के मद्देनजर 16 साल पुराने सीएम के सुरक्षा प्लान में बदलाव कर दिया गया है। सीएम की सुरक्षा से जुड़ी ग्रीन बुक में साल 2002 के बाद कई अहम बदलाव किए गए हैं, जिसमें दूसरे राज्यों में यात्रा के दौरान सुरक्षा इंतजाम, जल मार्ग, रेल मार्ग और वायु मार्ग से सफर के दौरान उनकी सुरक्षा कैसी हो, इसको लेकर कई अहम बदलाव शामिल है। इन बदलावों को कैबिनेट में बाईसर्कुलेशन के जरिए मंजूरी दे दी है। 

cm ki suraksha ka badla gaya plan

एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार सीएम की सुरक्षा वाली ग्रीन बुक में 2002 में अहम बदलाव किए गए थे, जिसके बाद से अब तक इन्हीं बदलाव के जरिए सीएम की सुरक्षा चल रही थी। लेकिन योगी आदित्यनाथ के कुर्सी संभालने के बाद उनकी सुरक्षा को लेकर कई तरह की बातें सामने आ रही है। वहीं, पूर्व के मुख्यमंत्रियों से कहीं ज्यादा उनका मूवमेंट भी है। हिंदुत्व का चेहरा होने के नाते वह लंबे समय से आतंकियों के निशाने पर हैं, जिसके चलते उनके कुर्सी संभालने के साथ ही उनकी सुरक्षा को लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ की समस्या को लेकर कई इलाकों का नाव से दौरा किया। इसी के साथ दूसरे राज्यों में भी वह ताबड़तोड़ यात्राएं कर रहे हैं। यात्रा के अलग-अलग मार्गों का इस्तेमाल करने के चलते ग्रीन बुक में हवाई और सड़क मार्ग के सुरक्षा घेरे के अलावा जल मार्ग में सुरक्षा, ट्रेन में सफर के दौरान सुरक्षा और भीड़ में सुरक्षा घेरा का अलग से इंतजाम किया गया। 

रेल यात्रा के दौरान सीएम को सुरक्षा मुहैया करवाने को लेकर रेलवे के अफसरों से समन्वय बनाने का प्रयास किया जा रहा है, जिससे सीएम को रेल यात्रा के दौरान सर्व होने वाले खाने से लेकर स्टेशन पर ट्रेन के रुकने तक सुरक्षा का प्लान तैयार किया जा सके। वहीं, जल मार्ग में सीएम को सुरक्षा प्रदान करने के लिए गोताखोरों के जरिए होने वाले हमले, जल वाहन में डूबने जैसी तमाम अन्य परिस्थितियों में सुरक्षा को ध्यान में रखकर सुरक्षा प्लान तैयार किया जा रहा है। वहीं, अक्सर भीड़ में लोग सीएम के पास तक पहुंच जाते हैं जिसके चलते अव्यवस्था का सामना करना पड़ता है। इसी के साथ बिना किसी दुर्व्यवहार के कैसे इन सभी पहलुओं से निपटा जाए इसको लेकर भी दिशा निर्देश जारी किये गये हैं।

cm ki suraksha ka badla gaya plan

  ताबड़तोड़ दौरों के चलते समय से पहले वाहन हो रहे रिटायर 

यूपी में पीएम मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और सीएम योगी के ताबड़तोड़ दौरों के चलते वीवीआईपी फ्लीट के ज्यादातर वाहन और उपकरण समय से पहले रिटायर हो रहे हैं। इसके अलावा योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद से अब तक गुजरात, कर्नाटक, केरल, त्रिपुरा, मेघालय, नागालैंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनावों के दौरान सभाएं कर चुके हैं, जिसके बाद सीएम की सुरक्षा में नई गाड़ियां, सुरक्षा उपकरण खरीदे जाना लाजमी है, जिसके लिए हाल ही में कैबिनेट की ओर मंजूरी भी दी गई है। 

बता दें कि राष्ट्रपति व गवर्नर की सुरक्षा के लिए येलो बुक, पीएम की सुरक्षा के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से ब्लू बुक और सीएम की सुरक्षा के लिए ग्रीन बुक होती है। इसके अनुसार ही वीवीआईपी के आसपास सुरक्षा का घेरा होता है। 

Web Title: cm ki suraksha ka badla gaya plan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया