मुख्य समाचार
महिलाओं से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा जरूरी : अनुपमा जायसवाल अवैध खनन मामले में दोषी पाए गए अधिकारी का तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरण सड़क सुरक्षा सप्ताह के दूसरे दिन परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक डीएम की बड़ी कार्रवाई, कानूनगो व लेखपाल सहित दो सस्पेन्ड यूपी में कमजोरों और बच्चियों की हत्याओं की आ गई है बाढ़ : अखिलेश क्रिकेट के बाद अब राजनीति की पिच पर भी पाकिस्तान को लग सकता है ये तगड़ा झटका अवैध रूप से संग्रह किये मिट्टी के तेल के साथ एक युवक गिरफ्तार निर्धनों को शिक्षा प्रदान करने के लिए होना चाहिए ह्यूमन टच : राज्यपाल पिता मुलायम को व्हील चेयर पर लेकर लोकसभा पहुंचे अखिलेश यादव
 

क्या अखलाक केस की वजह से हुई इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या!


ABHIMANYU VERMA 04/12/2018 16:48:57
270 Views

Bulandshahar. बुलंदशहर हिंसा के बाद एक बार फिर प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं। इस घटना ने विपक्ष को एक बार फिर सरकार पर हमला बोलने का मौका दे दिया है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने इस मामले में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये हैरान करने वाली स्थिति है कि अखलाक केस की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी को भीड़ ने मार डाला।

Is the murder of Sub Inspector Subodh

कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि इन लोगों को कानून हाथ में लेने का अधिकार कौन देता है? उसके साथ ही सिब्बल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि अपने राज्य की चिंता करने के बजाय योगी तेलंगाना जाकर जहर उगल रहे हैं।

 यह भी पढ़ें:-...बुलंदशहर हिंसा: शहीद पुलिस अफसर के परिजनों को 50 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान

Is the murder of Sub Inspector Subodh

वहीं, इस दौरान शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के बेटे अभिषेक का कहना है कि उसके पिता उसे अक्सर अच्छा नागरिक बनाना चाहते थे, जो धर्म के नाम पर समाज में हिंसा न फैलाए। आज हिंदू-मुस्लिम के झगड़े में उनके पिता ने अपनी जान गंवाई, कल किसके पिता की जान जाएगी? इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के बेटे ने बताया कि उसके पिता को धमकियां मिलती रहती थीं कि ऐसे जांच मत करो, लेकिन वो करते थे। 

Is the murder of Sub Inspector Subodh

वहीं, सुबोध सिंह की बहन का कहना है कि उनके भाई अखलाक हत्या मामले की जांच कर रहे थे और इसी वजह से उनकी हत्या हुई है, यह पुलिस की साजिश है। उन्हें शहीद घोषित करना चाहिए और मेमोरियल बनाया जाना चाहिए, हमें पैसे नहीं चाहिए, सीएम केवल गाय... गाय... करते हैं। 

Is the murder of Sub Inspector Subodh

बता दें कि साल 2015 में दादरी में रहने वाले अखलाक नाम के शख्स को गौ मांस रखने के शक में भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला था। वहीं, सोमवार को बुलंदशहर में गोकशी के शक में भीड़ की हिंसा ने अखलाक मामले की जांच कर रहे इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की जान ले ली। इस मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ़्तार किया गया है। मुख्य आरोपी योगेश राज अब भी फ़रार है।

Web Title: Is the murder of Sub Inspector Subodh ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया