तेजस्वी के इस दांव के सामने नीतीश का प्लान फेल, बंगला खाली न करवा पाये अधिकारी


ABHIMANYU VERMA 05/12/2018 17:47:05
225 Views

Patna. बिहार में तेजस्वी यादव को आवंटित सरकारी बंगला को लेकर सियासत जारी है। एक तरफ जहां नीतीश सरकार बंगले को खाली करवाने की पूरी कोशिश में जुटी है। वहीं, तेजस्वी बंगला खाली ना करने के मूड में हैं। दरअसल बुधवार को पटना के 5 देशरत्न मार्ग स्थित नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी का सरकारी बंगला खाली कराने के लिए जिला प्रशासन की टीम पहुंची। हालांकि बंगले के गेट पर एक नोटिस चिपकी मिली। जिसमें मामला हाईकोर्ट में होने की दलील दी गयी थी। जिसके बाद प्रशासन को खाली हाथ लौटना पड़ा। 

Tejaswi Yadav government bungalow controversy

बता दें कि पटना के 5 देशरत्न मार्ग स्थित सरकारी बंगला तेजस्वी यादव को उस वक्त आवंटित किया गया था, जब वह महागठबंधन की सरकार में डिप्टी सीएम के पद पर थे। लेकिन सरकार गिरने के बाद ये बंगला मौजूदा डिप्टी सीएम सुशील मोदी को आवंटित कर दिया गया। वहीं, सरकार की तरफ से तेजस्वी को बंगला करने के लिए कहा गया, लेकिन वह सरकार के आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट चले गए। 

यह भी पढ़ें;-...परिवार को तोड़ने के लिए तेज प्रताप को पैसे दे रहा है ये विभीषण

हाईकोर्ट में सिंगल बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया कि तेजस्वी को बंगला खाली करना पड़ेगा। फिर भी राजद नेता ने हार नहीं मानी और सिंगल बेंच के फैसले के खिलाफ तेजस्वी डबल बेंच में गए जहां ये मामला अभी भी लंबित है और 10 दिसंबर को इस मामले में सुनवाई है। तेजस्वी सवाल उठा रहे हैं कि जब मामला कोर्ट में पेंडिंग है तो सरकार जबरदस्ती बंगला खाली कराने पर क्यों अड़ी हुई है। 

Tejaswi Yadav government bungalow controversy

बताया जा रहा है कि बुधवार को जब जिला प्रशासन की टीम बंगाल खाली करवाने पहुंची तो तेजस्वी के आप्त सचिव ने हाईकोर्ट में अप्लाई किया गया एलपीए उपलब्ध कराया। जिसके बाद टीम वापस लौट गई। इस दौरान जिला प्रशासन की टीम को राजद नेताओं के विरोध का भी सामना भी करना पड़ा। 

Web Title: Tejaswi Yadav government bungalow controversy ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया