...तो क्या एमपी में होगा भाजपा-बसपा गठबंधन? टूट जाएंगीं कांग्रेस की उम्मीदें


NAZO ALI SHEIKH 11/12/2018 13:11:08
1612 Views

Bhopal. पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव परिणाम को लेकर लगातार वोटों की गिनती जारी है। सभी राज्यों में मध्यप्रदेश की काउंटिंग पार्टियों को संशय में डाल रही है। कभी बीजेपी तो कभी कांग्रेस आगे बढ़ रही है। बहुमत अभी तक न तो कांग्रेस और न ही बीजेपी को मिलते दिख रही है। वहीं, इस बात पर गौर करें कि यदि दोनों में से किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिलती है, तो बैशाखी का सहारा लेना होगा। ऐसे में बसपा ही एमपी में किंगमेकर साबित होगी। ध्यान देने की बात यह भी है कि बसपा ने कांग्रेस से गठबंधन को लेकर साफ इंकार कर दिया था। सीटों में मतभेद होने के कारण मायावती कांग्रेस से नाराज चल रही थीं।

यह भी पढ़ें... कांग्रेस को बड़ा झटका महागठबंधन की बैठक से मायावती-अखिलेश ने बनाई दूरी

...to kya MP mein hoga bhajpa-baspa gathabandhan? toot jaengi conress ki ummeeden

  उम्मीदों के गोते

बताते चलें कि कांग्रेस और बसपा में खींचातानी के बाद अब उम्मीदें यह भी लगाई जा रही हैं कि बसपा बीजेपी को सपोर्ट करेगी। यदि ऐसा होता है, तो कांग्रेस की उम्मीदों पर पानी फिर जाएगा। हालांकि, रुझानों की बात की जाए तो जो आंकड़े अभी तक वोटों की गिनती में सामने आ रहे हैं, कांग्रेस बढ़त बनाकर बहुमत के करीब है। लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि बीजेपी भी आगे आ सकती है। चूंकि बीजेपी बहुत सीटों से पीछे नहीं है। दोनों ही पार्टियों के बीच लुका छिपी का खेल वोटों की काउंटिंग में चल रहा है। 

यह भी पढ़ें... चुनावों के नतीजों से पहले विपक्ष की महाबैठक, भाजपा का विजयरथ रोकने पर होगी चर्चा

...to kya MP mein hoga bhajpa-baspa gathabandhan? toot jaengi conress ki ummeeden

  ये बात होगी दिलचस्प

एमपी में यदि पूर्ण बहुमत कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियों को नहीं मिलती है, तो बीजेपी के सामने बसपा ही विकल्प बन सकती है। ऐसे में भाजपा को बसपा के रूप में एक दोस्त मिल सकता है। फिलहाल अब दोस्ती को लेकर बसपा और भाजपा में से कौन हाथ बढ़ाता है, ये देखना दिलचस्प होगा। दरअसल, यह बात इसलिए सामने आ रही, चूंकि बसपा को भी रुझानों में करीब 6 से अधिक सीटें मिलते दिखाई दे रही है। यदि मामला फंसता है, तो इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि बसपा और भाजपा हाथ मिलाने को लेकर सोचेंगे ही नहीं। बताते चलें कि संबित पात्रा भी यह कह चुके हैं कि जरूरत पड़ी तो बसपा से गठबंधन पर पार्टी विचार करेगी। राजनीति में तो कुछ भी हो सकता है, इस बात को भी खारिज नहीं किया जा सकता। वहीं, बसपा की बात करें तो एमपी में जड़ मजबूत करने के लिए मजबूत साथी की जरूरत उसको भी है।

Web Title: ...to kya MP mein hoga bhajpa-baspa gathabandhan? toot jaengi conress ki ummeeden ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया