मुख्य समाचार
10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार! किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर
 

कांग्रेस के साथ आने को मजबूर हुए सपा-बसपा, नहीं तो होता बड़ा नुकसान!


ABHIMANYU VERMA 12/12/2018 13:41:56
318 Views

New Delhi. देश के पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे मंगलवार को घोषित किए गए। जिसमें कांग्रेस ने भाजपा को मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की सत्ता से बेदखल कर दिया है। तेलंगाना में टीआरएस दोबारा सत्ता में लौटी है। वहीं, मिज़ोरम में एमएनएफ़ ने शानदार जीत हासिल की है। हालांकि मध्य प्रदेश में कांग्रेस को अकेले सरकार बनाने के लिए पूर्णबहुमत हासिल नहीं हो पाया। उसे सरकार बनाने के लिए अन्य दलों व निर्दलीय उम्मीदवारों के समर्थन की जरूरत पड़ी है। 

SP-BSP forced to support Congress in Madhya Pradesh

लोकसभा चुनाव से पहले पांच में से तीन राज्यों में शानदार जीत ने कांग्रेस के हौसले बुलंद कर दिये हैं। इन राज्यों के चुनाव परिणाम काफी हद तक लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने वाले हैं। वहीं, महागठबंधन में सीटों को लेकर कांग्रेस पर क्षेत्रीय दलों का दबाव भी कम होगा। चुनाव से पहले क्षेत्रीय दल लगातार कांग्रेस के खिलाफ सीटों की हिस्सेदारी को लेकर बयानबाजी कर रहे थे, लेकिन चुनावों में कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन से अन्य विपक्षी दलों के तेवर नरम दिख रहे हैं। 

यह भी पढ़ें:-...शिवराज ने राज्यपाल को सौंपा इस्तीफा, कांग्रेस से मिली हार पर कह दी ये बड़ी बात

कांग्रेस को समर्थन के लिए मजबूर हुए सपा-बसपा

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस का शानदार प्रदर्शन रहा है। जहां छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस अकेले अपने दम पर सरकार बनाने के लिए सक्षम है। वहीं, मध्य प्रदेश में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस को केवल दो सीटों की जरूरत है। कहा ये भी जा रहा है कि उनकी पार्टी के बागी नेता जो निर्दलीय चुनाव लड़ने के बाद जीते हैं, वह कांग्रेस को समर्थन देने के लिए तैयार हैं। ऐसी स्थित में कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए सपा और बसपा के समर्थन की कोई जरूरत नहीं है। 

SP-BSP forced to support Congress in Madhya Pradesh

वहीं, कांग्रेस को निर्दलीय विधायकों के समर्थन की खबर आने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने खुद प्रेस कान्फ्रेंस कर कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया। हालांकि इस दौरान मायावती ने कांग्रेस की नीतियों को लेकर सवाल भी उठाए। इसके बाद सपा की तरफ से भी कांग्रेस को समर्थन का ऐलान कर दिया गया।

ऐसा माना जा रहा है कि अगर दोनों पार्टियां कांग्रेस को समर्थन न करती तो उन्हें सत्ता से शायद दूर ही रहना पड़ता। ऐसे में उन्हें मजबूरन कांग्रेस का समर्थन करना पड़ा है। 

यूपी में कांग्रेस पर दबाव होगा कम 

इन चुनाव के नतीजों का असर लोकसभा चुनाव में विपक्ष महागठबंधन पर साफ दिखने वाला है। जिसमें यूपी में कांग्रेस की भूमिका को लेकर घमासान मचने आसार साफ नजर आ रहे हैं। एक समय जहां कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के कारण सपा और बसपा महागठबंधन में कांग्रेस को एक भी सीट देने के लिए तैयार नहीं थे। वहीं, अब परिस्थितियां बिलकुल बदल चुकी हैं। कांग्रेस भी यूपी में सपा और बसपा से सीटों की मांग करेगी।    

SP-BSP forced to support Congress in Madhya Pradesh

Web Title: SP-BSP forced to support Congress in Madhya Pradesh ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया