अपने काम से लोगों में बनाएं विश्वास : राम नाईक


MOHD ATHAR RAZA 12/12/2018 17:35:55
86 Views

Lucknow. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि सूबे की कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होती है। ऐसे में पुलिस कर्मियों पर दबाव भी होता है, जिस वजह से उनका तनाव भी बढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों की ड्यूटी 24 घंटे की होती है। उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों को अपने स्वास्थ्य का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि मानसिक तनाव हावी न हो सके। उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों को स्वस्थ रहने के लिए व्यायाम, योग और ध्यान कर सकते हैं।

Trainee officer of Indian Police Service met Governor Ram Naik

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक राजभवन में 2015, 16 और 17 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आपको उत्तर प्रदेश जैसे बड़े प्रदेश (जिससे आबादी की दृष्टि से केवल तीन देश अमेरिका, इण्डोनेशिया और चीन बड़े) की कानून व्यवस्था सम्भालने का दायित्व मिला है। सभी अधिकारी उच्च शिक्षा में अलग-अलग विषयों में पारंगत हैं, अपने-अपने विषय के ज्ञान का उपयोग व्यवहारिक तौर पर अपराध नियंत्रण के लिए करें। कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी के कारण पुलिस अधिकारियों पर मानसिक दबाव भी बहुत होता है। उन्होंने कहा कि शरीर के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य भी महत्वपूर्ण है, इसलिये अपनी रूचि के अनुसार व्यायाम, योग, ध्यान आदि भी करते रहें। 

राज्यपाल ने अपने तीन बार विधायक रहने, पांच बार सांसद रहने तथा लम्बे समय तक सामाजिक जीवन के आधार पर अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि अपने काम से लोगों में विश्वास बनायें, अपने दायित्व और कर्तव्य पर ध्यान रखते हुए जनता के साथ निरन्तर सम्पर्क में रहें। पुलिस अधिकारी अपनी जिम्मेदारी को महसूस करते हुये निष्पक्षता, पारदर्शिता एवं समर्पित भाव से कार्य करें। किसी भी मामले पर चिन्तन करने के बाद ही योग्य निर्णय लें। शिकायत लेकर आने वालों से सम्मान से पेश आए तथा वरिष्ठों और अधीनस्थों के भी अच्छे कार्यों की सराहना करें। उन्होंने कहा कि बेहतर सेवा के लिये जहां भी रहें लोगों को समझने का प्रयास करें। 

राज्यपाल ने कहा कि कार्य संस्कृति को बदलने के लिए कुछ नया प्रयोग करने का प्रयास होना चाहिए। दिनभर का काम निपटाने के बाद अपने काम का हिसाब करें तथा अपनी रिपोर्ट स्वयं बनाएं। रिपोर्ट बनाने से इसका पता चलता है कि अब तक क्या किया है, आगे उसे और अच्छा कैसे कर सकते हैं। कार्यालय छोड़ने से पूर्व, कल क्या करना है, इसकी तैयारी अवश्य करें। व्यक्तित्व विकास के चार मंत्र बताते हुये उन्होंने कहा कि सदैव मुस्कुराते रहें, दूसरों की सराहना करना सीखें, दूसरों की अवमानना न करें क्योंकि यह गति अवरोधक का कार्य करती हैं, अहंकार से दूर रहें तथा हर काम को अधिक अच्छा करने पर विचार करें। सूरज की तरह जगत वंदनीय होने के लिए निरन्तर आगे बढ़ते रहें। उन्होंने ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ को उद्धृत करते हुए कहा कि सफलता का मर्म निरन्तर आगे बढ़ने में है। राज्यपाल ने सभी प्रशिक्षु अधिकारियों को अपने चैथे वर्ष का कार्यवृत्त ‘राजभवन में राम नाईक 2017-18’ की प्रति भेंट की।

इस अवसर पर राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव हेमन्त राव, पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण गोपाल गुप्ता, अपर पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण एस0एन0 तरडे सहित राजभवन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। सभी प्रशिक्षु अधिकारी फेज-2 के अन्तर्गत जिले में प्रशिक्षण के लिये जायेंगे।

   

 

Web Title: Trainee officer of Indian Police Service met Governor Ram Naik ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया