मुख्य समाचार
किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर
 

एमपी में खराब प्रदर्शन से भड़कीं मायावती, दो दिग्गज नेताओं को हटाया


ABHIMANYU VERMA 14/12/2018 16:22:35
1749 Views

Lucknow. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बसपा सुप्रीमो मायावती की तैयारी को देखकर कयास लगाए जा रहे थे कि उनकी पार्टी इस चुनाव में जबर्दस्त प्रदर्शन करने वाली है। लेकिन चुनाव के नतीजे आने के बाद बसपा के खराब प्रदर्शन से समर्थकों को निराशा हाथ लगी। वहीं, लोकसभा चुनाव में पीएम पद की रेस में दूसरे नेताओं को टक्कर दे रहीं मायावती का जनाधार कम हुआ है। जिससे बसपा सुप्रीमो बेहद नाराज हैं और इस नाराजगी की खामियाजा पार्टी के नेताओं को भुगतना पड़ा है। 

Mayawati, angry with poor performance in MP elections, removed two BSP leaders from her post.

दरअसल मध्य प्रदेश में खबर प्रदर्शन से नाराज मायावती ने बड़ी कार्रवाई करते हुए प्रदेश प्रभारी राम अचल राजभर और प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप अहिरवार को उनके पद से हटा दिया है। जिसके बाद मुरैना के डीपी चौधरी को नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। वहीं बसपा की एमपी कार्यकारिणी भी भंग हो गई है। 

बता दें कि एमपी में बसपा के पिछली बार 4 विधायक जीते थे, जबकि इस बार संख्या घटकर सिर्फ 2 रह गए हैं। इस चुनाव में पहले विधायकों में से कोई भी जीत नहीं पाया है। 

Mayawati, angry with poor performance in MP elections, removed two BSP leaders from her post.

यह भी पढ़ें:-...बसपा सुप्रीमो बोली- दिल पर पत्थर रखकर लोगों ने दिया कांग्रेस को वोट, पार्टी पदाधिकारियों को भी... 

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस से गठबंधन न होने के बाद बसपा ने सभी 230 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए थे, लेकिन दो ही उम्मीदवार जीत दर्ज सके। एमपी की रीवा, सतना, दमोह, भिंड, मुरैना आदि ज़िलों में बसपा का खासा प्रभाव रहा है। यहां तक कि खुद मायावती ने प्रदेश में एक दर्जन से ज्यादा सभाएं की। लेकिन इसका भी वोटर्स में कोई असर नहीं पड़ा और बसप सिर्फ 2 सीटों पर ही सिमट कर रह गयी। 

Web Title: Mayawati, angry with poor performance in MP elections, removed two BSP leaders from her post ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया