Merry Christmas 2018: जानें कौन है सेंटा क्लॉज, क्यों आधी रात में ही देते हैं गिफ्ट


NAZO ALI SHEIKH 24/12/2018 17:49:44
303 Views

Lucknow. क्रिसमस का त्योहार 25 दिसंबर को पूरी दुनिया बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाती है। यह त्योहार ईसाई धर्म के जीसस क्राइस्ट के जन्मदिवस की खुशी में मनाया जाता है। क्रिसमस में सबसे ज्यादा सेंटा क्लॉज का महत्व है, क्योंकि वह बच्चों को गिफ्ट देने आता है। लेकिन शायद आप नहीं जानते होंगे कि यह सेंटा कौन है और क्यों बच्चों को आधी रात में ही तोहफा देने आता है। 

यह भी पढ़ें... संत गाडगे महाराज ने भीख मांग-मांग कर गरीबों के लिए बनवाया था अस्पताल और विद्यालय

mairry chhristmas 2018 jaanen kaun hai santa claus kyon adhI raat mein hi dete hain gift

  19वीं सदी से चलन में है सैंटा

सेंटा क्लॉज के बारे में कहा जाता है कि सेंटा का घर उत्तरी ध्रुव पर स्थित है और वह उड़ने वाले रेनडियर की गाड़ी में चलते हैं। वैसे सेंटा का यह रूप 19वीं सदी के बाद से चलन में आया है। इससे पहले ऐसा नहीं था। 

  संत निकोलस हैं असली सैंटा

संत निकोलस को असली सेंटा माना जाता है। कहते हैं निकोलस का जन्म प्रभु ईशु की मौत के 280 साल बाद मायरा में हुआ था। निकोलस बचपन से ही अनाथ थे इसी कारण उनकी आस्था प्रभु ईशु में ज्यादा थी। 

यह भी पढ़ें... जानिए उत्पन्ना एकादशी का क्या है महत्व

mairry chhristmas 2018 jaanen kaun hai santa claus kyon adhI raat mein hi dete hain gift

  छिपकर देते हैं तोहफे

संत निकोलस बड़े होकर ईसाई धर्म के पादरी फिर बाद में बिशप बने। उन्हें बच्चों और जरुरतमंद लोगों को उपहार देना बहुत अच्छा लगता था। संत निकोलस जब भी किसी को उपहार देते थे तो हमेशा आधी रात को ही देते थे, क्योंकि उपहार देते हुए नजर आना पसंद नहीं करते थे और वह अपनी पहचान किसी के सामने जाहिर करना नहीं चाहते थे।

Web Title: mairry chhristmas 2018 jaanen kaun hai santa claus kyon adhI raat mein hi dete hain gift ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया