राज्यसभा में अटका तीन तलाक बिल, विपक्षी संख्या बल के सामने सरकार बेबस


ABHIMANYU VERMA 01/01/2019 10:38 AM
184 Views

New Delhi. तीन तलाक से सम्बन्धित बिल एक बार फिर राज्यसभा में राजनीतिक गतिरोध के चलते अटक गया है। मोदी सरकर बहुमत के अभाव के चलते इस बिल को सोमवार को राज्यसभा में पास नहीं करवा सकी। वहीं, विपक्षी दल अभी भी इसे सेलेक्ट कमेटी को भेजने की अपनी मांग को लेकर अड़े हुए हैं। 

Three divorce bills could not be passed in Rajya Sabha

मोदी सरकार ने सोमवार को राज्यसभा में तीन तलाक बिल पारित करवाने की फिर से कोशिश की। विपक्ष तीन तलाक बिल में बड़े बदलाव और सदन में चर्चा से पहले सेलेक्ट कमेटी की मांग की, लेकिन सरकार ने विपक्ष की मांग को खारिज कर दिया। इस दौरान विपक्ष के उपनेता आनंद शर्मा ने सरकार पर एक संवेदनशील मसले पर राजनीति करने का आरोप लगाया। वहीं, सरकार ने कहा कि विपक्ष इस बात से डर गया है कि ये कानून बनने से मुस्लिम महिलाएं मोदी सरकार का समर्थन करेंगी। बता दें कि महत्वपूर्ण मामलों में हमेशा सरकार के साथ खड़ी रहने वाली AIADMK भी तीन तलाक संबंधी इस बिल के विरोध में है। 

गतिरोध के लिए विपक्ष ने सरकार ठहराया जिम्मेदार

वहीं, तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने मीडिया से कहा कि सरकार गतिरोध के लिए जिम्मेदार है और बिना बिल पर राजनीतिक आम राय बनाए इसे राज्यसभा में पारित कराना चाहती है। वहीं, AIADMK पार्टी की चीफ विप वी सत्यानन्त का कहना है कि बिल में दोषी पति को सजा का प्रावधान गलत है। इससे प्रस्तावित कानून का दुरुपयोग बढ़ेगा।

Three divorce bills could not be passed in Rajya Sabha

इस मुद्दे पर पीडीपी नेता मुजफ्फर बेग ने कहा कि दुनिया के किसी भी देश में सिविल कन्ट्रैक्ट के लिए सजा का प्रावधान नहीं है और भारत में भी ऐसा नहीं होना चाहिए। 

राज्यसभा की स्थिति

राज्यसभा में एनडीए (भाजपा- 73, जेडीयू- 6, शिवसेना- 3, अकाली दल- 3, आरपीआई- 1 ) के पास 86 सांसद हैं। वहीं विपक्ष में कांग्रेस- 50, सपा- 13, टीएमसी- 13, सीपीएम- 5, एनसीपी- 4, एनसीपी- 4, बसपा- 4, सीपीआई- 2, पीडीपी- 2, कुल 97 पास सांसद हैं। 

वहीं, वो दल जो किसी खेमे में नहीं उनमें टीआरएस के 6, बीजेडी के 9 और एआईएडीएमके के 13 सांसद हैं। इन दलों का रुख भी राज्यसभा में काफी अहम रहने वाला है।  

Web Title: Three divorce bills could not be passed in Rajya Sabha ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया