बच्चों का शैक्षणिक परिभ्रमण


संतोष कुमार 01/01/2019 05:18
352 Views

Lucknow. बीते साल के अंत में शैक्षणिक परिभ्रमण के लिए आर.एस. मेमोरियल-बचपन किंडरगार्टन, बांके बाज़ार के बच्चे शैक्षणिक परिभ्रमण में "फ्लोरल डायवर्सिटी पार्क, डोभी" गए। इस परिभ्रमण में 60 बच्चों सहित 20 शिक्षिकाओं ने खूब आनंद उठाया। बच्चे विद्यालय से ही बैडमिंटन, वॉलीबॉल, कैरम आदि खेलने की सामग्री लेकर आये थे। बच्चों ने इस पार्क जमकर धमाचौकड़ी की और भरपूर लुत्फ उठाया। बच्चों को खेलते मौज मस्ती करते देखने से ये प्रतीत हो रहा था कि आज उनसे ज्यादा आनन्दित और स्वतंत्र इस दुनिया मे कोई दूसरा नही है। 

7939522a-5d27-4ec7-a208-b934edcc4a34.jpg

"फ्लोरल डायवर्सिटी पार्क लगभग दो एकड़ से भी ज्यादा दूर में फैला है। यह पार्क बच्चों के लिए स्वर्ग जैसा है। शहर और गांवों में बढ़ती गाड़ियों से फैलते प्रदूषण युक्त वातावरण में यह पार्क लोगों को स्वच्छ हवा और शांत माहौल दे रहा है, जो लोगों को स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक साबित हो रहा है। विद्यालय की प्रधानाचार्या सोनम गुप्ता ने बताया कि बच्चों और बड़े बुजुर्गों के लिए यह "फ्लोरल डायवर्सिटी पार्क, डोभी" बना कर बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार ने एक बहुत ही सराहनीय काम किया है। छोटे बच्चों को विद्यालय के शैक्षणिक परिभ्रमण या घरेलू पिकनिक के लिए पहले बोधगया या राजगीर जैसे भीड़-भाड़ वाले जगह पर जाना पड़ता था, जहां पूरे गया जिले और जिला के बाहर के लोग भी नववर्ष या अन्य त्योहार मनाने आते थे, जिससे काफी भीड़ हो जाती थी, अब इस पार्क के बन जाने के बाद हमारे अनुमंडल के लोगों को एक बहुत हीं बढ़िया और बड़ा पार्क मिल गया है। यहां के खुले माहौल में बच्चे बहुत आनन्द उठा रहे हैं। 

विद्यालय के निदेशक कमलेश कुमार ने बताया कि शैक्षणिक परिभ्रमण curriculum का एक जरूरी हिस्सा है, जिसके माध्यम से बच्चों में नेतृत्व क्षमता, आपसी भाईचारा व आपसी सौहार्द के भावना का विकास होता है तथा बच्चों के सर्वांगीण विकास का प्रमुख स्तम्भ शैक्षणिक परिभ्रमण है। वहीं, विद्यालय के इस परिभ्रमण की सीनियर एकेडमिक इंचार्ज नेहा अदिति ने कहा कि यह पार्क बना कर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बहुत सराहनीय कार्य किया है। बच्चों ने इस परिभ्रमण का पूरा लुत्फ उठाया है। उन्होंने कहा कि यहां सिर्फ एक चीज की कमी खली, वो है शौचालय, कैंटीन एवं पेयजल। अगर इन सभी कमी को पूरा कर दिया जाए तो सोने पर सुहागा हो जाएगा। खास कर शौचालय और पेयजल की व्यवस्था नहीं होने से महिलाओं व बच्चों को काफी दिक्कत हो रही है।

वहीं, शौचालय नहीं रहने के कारण प्रधानमंत्री मोदी का "स्वच्छ भारत समृद्ध भारत" का सपना भी अधूरा है। वहीं, पेयजल की कमी से गर्मी में आने वाले लोगों को काफी कठिनाई होगी। 

 

 

Web Title: Children's educational cruises ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया