मुख्य समाचार
बाढ़ और बारिश से बेस्वाद हुई दाल, टमाटर हुआ लाल, इन सब्जियों के बढ़े 50 फीसदी दाम मॉब लिंचिंग पर सपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं मुसलमान अब इस दिग्गज ने की प्रियंका के नाम की वकालत बाढ़ से बेहाल असम-बिहार, ताजा तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर पीड़ितों ने कौन सा अपराध किया जो उन्हें मुझसे मिलने से रोका जा रहा : प्रियंका AKTU : यूपीएसईई – 2019 की काउंसलिंग का तीसरा चरण आज से शुरु ICC के फैसले से सदमे में जिम्बाब्वे की टीम प्लेसमेंट ड्राइव में 5 से 7 लाख के पैकेज के साथ आई कंपनी, 120 छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग मंचीय कविता के आखिरी स्तम्भ थे नीरज : लक्ष्मी नारायण चौधरी एजाज खान के अरेस्ट होने के बाद ट्वीटर पर छाए मीम्स- यूजर्स बोले... ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए मैंगो फूड फेस्टिवल का आयोजन : डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा तेजबहादुर की याचिका पर पीएम मोदी को नोटिस
 

हेडली प्रत्यर्पण के प्रयासों ने पकड़ा जोर, जल्द भारत लाया जा सकता 26/11 का साजिशकर्ता


DEEP KRISHAN SHUKLA 03/01/2019 10:13:52
109 Views

New Delhi. मुंबई हमले के आरोपी डेविड कोलमैन हेडली के प्रत्यर्पण के प्रयास तेज हो गए हैं। केन्द्र सरकार इस मसले पर गंभीर है। भारत—अमेरिका के बीच 1997 में प्रत्यर्पण संधि के तहत पाकिस्तानी मूल के अमेरिकन इस कुख्यात आरोपी को देश में लाने की तैयारियां चल रही हैं। बीते दिन लोकसभा में विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने यह जानकारी देते हुए कहा कि सरकार के प्रयास इस दिशा में तेजी से चल रहे हैं।

hedli prtyarpan ke prayasho ne pakda jor jald laya ja sakta hai bhart

वर्ष 2008 में 26 नवम्बर को मुंबई में हुए आतंकी हमले की साजिश रचने वाले पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी डेविड कोलमैन हेडली को जल्द देश लाए जाने की कवायद तेज हो गयी है। विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने लोकसभा में इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 13 से 15 दिसम्बर के बीच राष्ट्रीय जांच एजेंसी के एक दल को प्रत्यर्पण के लिए अमेरिका भेजा गया था। उसे देश लाने के लिए भारत व अमेरिका के बीच 1997 में हुई प्रत्यर्पण संधि के प्रावधानों का सहारा लिया जाएगा। विदेश राज्य मंत्री ने आगे कहा कि अमेरिका ने अपने अंतरराष्ट्रीय साझीदारों के साथ मिलकर दोषियों की पहचान करने और उन्हें सजा दिलाने को लेकर प्रतिबद्धता जताई है।

  166 मरने वालों में 28 विदेशी नागरिक भी थे

अमेरिका की एक अदालत ने मुंबई हमला मामले में इस अपराधी को 35 साल की सजा सुनाई है। इसके साथ ही उसे इस प्रकरण का गवाह भी बनाया गया है। बता दें कि इस हमले में 166 लोगों की मौत हुई थी, जिनमें 10 देशों के 28 नागरिक भी शामिल थे। शेष मरने वाले भारतीय थे।

  अमेरिका का डबल जियोपार्डी कानून आड़े आ रहा था

इसके तहत एक आरोपी को एक ही अपराध के लिए दो बार सजा नहीं दी जा सकती। इसकी काट के लिए एनआईए ने राणा के खिलाफ अपनी कंपनी के जरिये नकली कागजात के आधार पर हेडली का पासपोर्ट बनवाने का आरोप लगाया है। एनआईए की इस दलील पर एफबीआई और अन्य एजेंसियां उसके प्रत्यर्पण पर विचार कर रही हैं। सूत्रों के मुताबिक, डेविड हेडली ने अमेरिका के साथ समझौता कर आरोप स्वीकार लिए हैं। अमेरिका में उसे 35 साल की सजा हो चुकी है। लिहाजा भारत की तमाम कोशिशों के बावजूद हेडली का प्रत्यर्पण थोड़ा मुश्किल है।

इसे भी पढ़े...कोर्ट के फैसलों से हुआ कांग्रेस के राजनीतिक षडयंत्रों का पर्दाफाश : सीएम योगी

Web Title: hedli prtyarpan ke prayasho ne pakda jor jald laya ja sakta hai bhart ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया