छोटी सी लापरवाही बनती है स्वाइन फ्लू की वजह, इन तरीकों से करें बचाव


ABHIMANYU VERMA 04/01/2019 13:33:34
449 Views

Lucknow. सर्दी के इस मौसम में गिरते पारे के साथ खतरनाक वायरस स्वाइन फ्लू ने भी देश में एक बार फिर दस्तक दे दी है। इस एच1एन1 नाम के वायरस से फैलाने वाली इस बीमारी को शूकर इन्फ्लूएंजा के नाम से भी जाना जा है। पिछले साल 2017 में भी कई लोग स्वाइन फ्लू वायरस से पॉजीटिव पाए गए थे। यह संक्रामक रोग है जो एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलता है। पहले इस बीमारी को लेकर कई तरह की चुनौतियां थीं हालांकि अब इसका इलाज भी संभव है। लेकिन इसके को लेकर सतर्क रहना भी बहुत जरूरी है।

Swine Flu prevention methods

स्वाइन फ्लू के लक्षण 

स्वाइन फ्लू श्वसन तंत्र से जुड़ी बीमारी है। इसका सबसे पहला लक्षण जुकाम है लेकिन इस जुकाम से संक्रमित व्यक्ति को 100 डिग्री या उससे अधिक बुखार की शिकायत होने लगती है। इसके अलावा खांसी व छींके आना, सांस लेने में परेशानी होना, सीने-गीले में जलन, तेज बुखार, ठंड़ लगना, गला खराब होना, मांसपेशियां व सिर में तेज दर्द कमजोरी और थकावट महसूस होना सूजन उल्टियां जैसे लक्षण भी दिखने लगते हैं। 

Swine Flu prevention methods

यह भी पढ़ें:-...नए साल में धूम्रपान छोड़ा तो होगा डबल फायदा

बचाव करने के उपाय 

  • स्वाइन फ्लू के रोगी के पास जायें तो मास्क लगाकर जाएं। 
  • खांसी और जुकाम से ग्रस्त व्यक्ति से दूरी बनायें रखें। 
  • किसी के छींकने या खांसने के दौरान नाक व मुंह पर रुमाल रख लें।
  • बुखार आए तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं और तुरंत जांच करवाएं। 
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनाने वाली चीजों का सेवन करें। 
  • आलू, चावल व दही का सेवन जितना हो सके, उतना कम करें।
  • ज्यादा से ज्यादा गर्म पानी पीते रहें।
  • कोल्ड-कफ में हाथ मिलाने से बचें।
  • साफ-सफाई का ध्यान रखें।
Web Title: Swine Flu prevention methods ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया