मुख्य समाचार
अपने बजट का पांच फीसद हिस्सा पशुओं के कल्याण में लगाएं राज्य: गिरीश रतन टाटा को हाईकोर्ट से मानहानि मामले में राहत, जानें पूरा मामला मॉब लिंचिंग पर फिर बोले नसीरुद्दीन शाह, परिजनों से मिलकर कहा- साहस को... ट्रामा में फैला खतरनाक फंगस, कारगर दवा नहीं, अलर्ट जारी समलैंगिक विवाह के लिए कोर्ट पहुंचीं दो युवतियां, मजिस्ट्रेट ने नहीं लिया आवेदन, जानें वजह 10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार!
 

जल संरक्षण के लिए सरकार का अहम कदम, डीएम की अध्यक्षता में टीम होगी गठित


NAZO ALI SHEIKH 04/01/2019 17:17:23
272 Views

Lucknow. जल संकट की स्थिति से ऊबरने के लिए सरकारें लगातार प्रयास कर रही हैं। वहीं, वैज्ञानिक भी लगातार जल संकट को लेकर चेतावनी जारी कर रहे हैं। देखा जाए तो सामान्य तौर पर गर्मी के महीनों में जल स्तर कई फिट नीचे पहुंच जाता है। तालाब और नहरें सूखने लगती है। लेकिन उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने जल संरक्षाण को लेकर शासनादेश जारी कर दिया है। इस शासनादेश के तहत प्रदेशभर के तालाबों, झीलों की खुदाई कर उनको गहरा किया जाएगा। इससे तालाबों में पानी की कमी नहीं होगी। खुदाई से जो मिट्टी निकलती है, उसका सरकारी योजनओं में उपयोग किया जा सकेगा। 

यह भी पढ़ें... संयुक्ता भाटिया ने हिन्द नगर वार्ड का किया दौरा ,जोनल अधिकारी को लगायी फटकार

jal sanrakshan ke lie sarkar ka ahem kadam, dm ki adhyakshta mein teem hogi gathit

  यहां प्रयोग होगी मिट्टी 

खुदाई से निकलने वाली मिट्टी को सरकार एक्सप्रेसवे, हाईवे व अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं में प्रयोग कर सकेगी। इसके लिए जल्द ही काम शुरू कर दिया जाएगा। बताते चलें कि शासनादेश जारी होने के बाद अब युद्ध स्तर पर प्रशासन इस काम में जुटेगा। इसके लिए अधिकारियों ने तैयारियां भी शुरू कर दी है। शासन की ओर से परियोजनाओं में नि:शुल्क मिट्टी का प्रयोग करने के लिए भी निर्देश दिया गया है। 

यह भी पढ़ें... गरीबों के साथ नए वर्ष की शुरुआत

jal sanrakshan ke lie sarkar ka ahem kadam, dm ki adhyakshta mein teem hogi gathit

  बनेगी अधिकारियों की टीम

तालाबों की खुदाई को लेकर डीएम की अध्यक्षता में टीम गठित की जाएगी। इस टीम में डीपीआरओ, सिंचाई, व अन्य विभागों के अधिकारी शामिल किए जाएंगे। कमेटी का गठन होने के बाद जल संरक्षण के लिए कार्य युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया जाएगा। 

  ये होगा लाभ

सरकार के इस सराहनीय कदम से तालाबों और झीलों में पानी की पार्याप्तता रहेगी।
जल का प्रयोग फसलों के लिए भी किसान कर सकेंगे। 
तालाब एक बार गहरे हो जाएंगे तो बरसात का पानी लंबे समय तक बना रहेगा।
सरकारी परियोजनाओं के लिए मिट्टी की उपलब्धता भी आसानी से हो सकेगी।
जल संरक्षण की दिशा में बेहतर काम हो सकेगा।

  क्या कहते हैं एडीएम

एडीएम वित्त एवं राजस्व अवनीश सक्सेना ने बताया कि तालाबों की खुदाई के लिए शासनादेश जारी किया था। बैठक में डीएम ने प्रत्येक ग्रामसभा में दो तालाबों की खुदाई का निर्देश दिया है। एनएचआई मिट्टी के खुदाई के साथ ही नि:शुल्क मिट्टी का प्रयोग अपनी योजना में करेगी। यह सारी बातें शासनादेश में दी हुई है। जिसको मिट्टी की जरूरत होगी वह आवेदन करेगा।

Web Title: jal sanrakshan ke lie sarkar ka ahem kadam, dm ki adhyakshta mein teem hogi gathit ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया