मुख्य समाचार
स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल 12वीं पास को यहां नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन आराध्या बच्चन ने अपने कमाल के डांसिंग मूवस से जीता सबका दिल, देखें वीडियो ...तो एडल्ट बैकग्राउंड पर शर्मिंदा होती सनी लियोनी? दिए चौंकाने वाले जवाब Exit Polls में कांग्रेस के लिए एक खुशखबरी Redmi Note 7s स्मार्टफोन भारत में लॉन्च, जानें कीमत गर्लफ्रेंड गैब्रिएला के साथ मालदीव में छुट्टी बिता रहे हैं अर्जुन रामपाल, देखें तस्वीरें ...तो यूपी में बीजेपी का सूपड़ा हो जाएगा साफ, मायावती बनेंगी किंग मेकर! सिद्धू के पास एकमात्र विकल्प, इमरान खान की पार्टी कर लें ज्वाइन कुख्यात बदमाश ने दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर को पीट-पीटकर मार डाला IAS बनने का है सपना, यहां फ्री में पाएं UPSC कोचिंग की सुविधा इस नियम को तोड़कर शिल्पा शेट्टी ने लिया इफ्तार पार्टी का मजा, शेयर किया वीडियो पाकिस्तानी बल्लेबाज आसिफ अली की बेटी की मौत, कैंसर का थी शिकार राज्यपाल ने ‘मधु अभिलाषा’ और ‘हिंद स्वराज्य का पुनर्पाठ’ पुस्तकों का किया विमोचन कांग्रेस अंतिम चरण की सात से ज्यादा लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेगी: प्रवक्ता पाकिस्तान की दो बेटियों ने काशी में किया मतदान, बोलीं बेहतरीन है हिंदुस्तान
 

यूपी में UPA के लिए सिर दर्द बनी बुआ-बबुआ की जोड़ी


ABHIMANYU VERMA 05/01/2019 13:42:41
266 Views

Lucknow. लोकसभा चुनाव 2019 के लिए अब महज कुछ ही महीने रह गए हैं और सभी राजनीतिक दल चुनाव की तैयारी में जुटे हुए हैं। एक तरफ जहां मोदी सरकार सत्ता में फिर से वापसी के लिए पूरा ज़ोर लगा रही है। वहीं, पांच साल केंद्र की सत्ता से दूर रहने के बाद कांग्रेस के नेतृत्व वाली UPA सत्ता में वापस लौटना चाहती है, लेकिन UPA के लिए ये राह इतनी आसान नहीं दिख रही है, क्योंकि इस बार कांग्रेस के लिए दोहरी चुनौती है। पहली चुनौती उसे सीधे तौर पर भाजपा से मिल रही है, जबकि दूसरी चुनौती उसे थर्ड फ्रंट के तौर पर मिल रही है। 

SP-BSP allaince making trouble for Congress in UP

पिछली सरकारों की बात करें तो राष्ट्रीय पार्टियां क्षेत्रीय दलों को जोड़कर सरकार बनाती रहीं हैं। वहीं, UPA-1 और UPA-2 की सरकार के दौरान भी क्षेत्रीय दलों की हिस्सेदारी रही, लेकिन मौजूदा समय में क्षेत्रीय दल एक-एक करके कांग्रेस से किनारा कर रहे हैं, जिसमें कांग्रेस की सबसे खराब स्थिति यूपी में है। जोकि लोकसभा चुनाव के नजरिए से सबसे अहम राज्य है। 

यूपी में गठबंधन बना सिर-दर्द 

यूपी में गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के दौरान करीब आए सपा और बसपा मौजूदा समय में भाजपा के खिलाफ गठबंधन की रणनीति तैयार करने में जुटे हुए हैं। वहीं, प्रदेश की ये दो बड़ी पार्टियों ने कांग्रेस से भी किनारा कर लिया है और ये पार्टियां कांग्रेस विरोधी पार्टियों को एक साथ करके गठबंधन तैयार करने में जुटी हुई हैं। हालांकि ये बात भी सामने आयी है कि गठबंधन यूपी की रायबरेली और अमेठी सीट से कोई भी उम्मीदवार नहीं उतरेगा। 

SP-BSP allaince making trouble for Congress in UP

ऐसे में अगर UPA यूपी में अकेले ही चुनाव लड़ता है, तो उसे फायदे की बजाय नुकसान होने की ज्यादा संभावना है। हाल ही में आए मीडिया सर्वे में गठबंधन को 50 से ज्यादा सीटें मिलने की उम्मीद हैं, जबकि भाजपा को महज अधिकतम 30 सीटें ही मिल रही हैं, लेकिन अगर कांग्रेस अकेले ही चुनाव लड़ती है तो उसे महज दो सीटों पर संतोष करना होगा।

यह भी पढ़ें:-...तेज प्रताप पर भड़के तेजस्वी यादव, कह दी ये बड़ी बात 

सत्ता में वापसी के लिए यूपी जरूरी 

पांच साल सत्ता से दूर रहने के बाद कांग्रेस वापसी के लिए पूरा ज़ोर लगाने में जुटी हुई है, लेकिन इसके लिए उसे यूपी में भी वापसी करनी होगी। यह प्रदेश लोकसभा चुनाव के लिहाज से सबसे बड़ा है। लोकसभा की कुल 543 सीटों में से 80 सीटें यूपी में हैं। वहीं, पिछले चुनाव की बात की जाए तो कांग्रेस की हार की एक बड़ी वजह यूपी में उसका खराब प्रदर्शन रहा। यहां पर कांग्रेस को महज 2 सीटें ही मिल पायी थी। 

SP-BSP allaince making trouble for Congress in UP

वर्तमान समय में अगर कांग्रेस, सपा और बसपा से हाथ मिलाती है तो उसकी स्थिति पिछले चुनाव जैसी ही होगी, क्योंकि उसे सिर्फ अमेठी और रायबरेली की सीट ही दी जाएंगी। ऐसे में बुआ-बबुआ की जोड़ी उसके लिए सिर-दर्द साबित हो रही है। अगर कांग्रेस क्षेत्रीय दलों के साथ जाती है तो सत्ता में आने पर उस पर दबाव बनाने की कोशिश करेंगे और उसे हर शर्त को मानना पड़ेगा।

Web Title: SP-BSP allaince making trouble for Congress in UP ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया