मुख्य समाचार
कानपुर में पांच मंजिला इमारत में लगी भीषण आग जीत के बाद जल्द काशी पहुंचेंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा प्रशासन रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, ईडी ने अग्रिम जमानत निरस्त करने की मांग मोहनलालगंज में बसपा चौथी बार दूसरे स्थान पर डॉ. ओ.पी.चौधरी ने संभाला भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के चेयरमैन का कार्यभार अपने बयान में फंसे सिद्धू, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर खिंचाई सेवक के रूप में करूॅगी जनता की सेवा : साध्वी संसद तक पहुंचने में सफल हुई यह 11 महिलाएं करेंगी यूपी का नेतृत्व  दोबारा चुनाव जीतकर कौशल ने रचा इतिहास बाइक की टक्कर से साइ​किल सवार महिला की मौत, बेटी घायल शाकिब-अल-हसन का विश्व कप को लेकर आया बड़ा बयान गंभीर ने की राजनीतिक करियर की शुरुआत, इतने वाटों से दर्ज की जीत ऐसा हुआ तो आज़म खान लोकसभा की सदस्यता से खुद दे देंगे इस्तीफा! पुलिस ने किया लूट की वारदात से इंकार, आपसी रंजिश का गहराया शक  आजम खान का बड़ा बयान, तो दे दूंगा लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा भाजपा व मीडिया को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट पर मुकदमा दर्ज, अभियुक्त भेजा गया जेल FIFA World Cup: हो गया निर्णय 2022 टूर्नामेंट में खेलेंगी 32 टीमें बुंदेलखंड की सभी 4 सीटें भाजपा के खाते में 52 सीटों पर सिमटी कांग्रेस, अपनी पारम्परिक ​सीट से हाथ धो बैठे राहुल गांधी भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) ने उप्र की दो सीटों विजयी सुरक्षा बलों ने आतंकी सरगना मूसा को ढेर कर दिया पीएम मोदी की जीत का तोहफा
 

सीबीआई मामले में 'सुप्रीम' फैसला, आलोक वर्मा की हुई वापसी


DEEP KRISHAN SHUKLA 08/01/2019 11:22 AM
153 Views

NEW DELHI. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में काफी दिनों से चल रहे विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र की मोदी सरकार को तगड़ा झटका दे दिया है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के फैसले का पलटते हुए सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने के आदेश को रद्द कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार को सीबीआई निदेशक को अवकाश पर भेजने का अधिकार नहीं है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद आलोक वर्मा की निदेशक पद पर वापसी का रास्ता तो साफ हो गया है, लेकिन वह कोई नीतिगत फैसला नहीं ले सकेंगे। 

supreem coart ka supreem faisla, aalok varma ki hui vapsi
सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को केन्द्र सरकार की खूब किरकिरी हुई। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की याचिका पर फैसला सुनाते हुए उन्हें छुट्टी पर भेजने के केन्द्र सरकार के आदेश को निरस्त कर दिया है। बता दें कि सीबीआई निदेशक आलोक कुमार वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच जंग छिड़ गई थी। दोनों अफसरों ने एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे। यह विवाद सार्वजनिक होने पर केन्द्र सरकार ने बीती 23 अक्टूबर को दोनों अधिकारियों से उनके अधिकार छीनते हुए उन्हें अवकाश पर भेजने का फरमान जारी किया था। इसके साथ ही सीबीआई के संयुक्त निदेशक एम नागेश्वर राव को निदेशक का अस्थाई कार्यभार सौंप दिया था, जिस पर आपत्ति जताते हुए निदेशक आलोक कुमार वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। 

supreem coart ka supreem faisla, aalok varma ki hui vapsi

75 दिन बाद रद्द हो गया केन्द्र सरकार का आदेश

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति केएम जोसेफ की पीठ ने पिछले साल 6 दिसंबर को आलोक वर्मा की याचिका पर केन्द्र सरकार, केन्द्रीय सतर्कता आयोग और अन्य की दलीलों पर सुनवाई पूरी करने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को आलोक वर्मा के छुट्टी पर भेजने के आदेश को निरस्त कर दिया है। कोर्ट कहा कि जांच एजेंसी के निदेशक को अवकाश पर भेजने का अधिकार केन्द्र सरकार के पास नहीं है। यह अधिकार सिर्फ चयन समिति के पास है, इससे कोई छेड़छाड़ नहीं कर सकता। 

supreem coart ka supreem faisla, aalok varma ki hui vapsi
वापसी तो हुई पर अधिकार हुए सीमित

अपना सेवाकाल पूरा होने के महज एक माह पहले पद पर पुन: वापसी करने वाले आलोक वर्मा की शक्तियों को सुप्रीम कोर्ट ने सीमित कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में इस बात का जिक्र भी किया है कि वह पद पर तो वापस जाएंगे, लेकिन कोई नीतिगत फैसले या जांच नहीं शुरू कर सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले में नहीं मिली राकेश अस्थाना को राहत

सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा व संयुक्त निदेशक राकेश अस्थाना के आपसी झगड़े के सार्वजनिक होने पर केन्द्र सरकार ने दोनों अधिकारियों के अधिकार छीनते हुए उन्हें अवकाश पर भेज दिया था, जिसके विरोध में दोनों ही अधिकारी न्यायालय की शरण में गए थे, लेकिन आज के फैसले में सिर्फ आलोक वर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने राहत दी है। अनुमान लगाया जा रहा है कि कोर्ट ने निदेशक के पद को अहमियत देते हुए अपना फैसला सुनाया है। 

यह भी पढ़े...तेजस्वी बंगला विवाद ,पटना हाईकोर्ट ने सुनाया चौंकाने वाला फैसला, मचा हड़कंप

Web Title: supreme court ka supreme faisla, alok verma ki hui vaapsi ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया