मुख्य समाचार
राहुल गांधी सहित 11 विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोका, नहीं दी इजाजत मायावती ने बाबा साहब को लेकर कही ये बात, जीत लिया जनता का दिल पूरे देश में जन्माष्टमी की धूम,राष्ट्रपति व पीएम मोदी ने देशवासियों को दी बधाई शुक्रवार को घर-घर जन्में नन्दलाल बड़ा ऐलान: तेजस्वी की जगह इस नेता के नेतृत्व में आरजेडी लड़ेगी विधानसभा चुनाव चौथे दिन भी सोने के दाम ने पकड़ी रफ्तार, कीमत 39 हजार पहुंचने में 5 रुपये कम श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर 400 बेसहारा गौ माताओं को अर्पण किया जाएगा भोजन CBSE स्कूलों के बच्चों को अब ये काम करने पर मिलेगा ग्रेड मुलायम के अचानक सपा दफ्तर पहुंचने पर मचा हड़कंप, कार्यकर्ताओं को दे डाली ये नसीहत स्कूल बस ने युवक को मारी टक्कर हुई मौत, चालक फरार  बच्चा चोर गिरोह के शक में चार साधु वेशधारियों को ग्रामीणों ने पकड़ा कुंभ के प्रचार-प्रसार के नाम पर कारोबारी से हुई ठगी  गाड़ी से रौंदकर 2 की हत्या मामले में चौकी प्रभारी हुए लाईन हाजिर, इन जगहों पर बरती गयी लापरवाही  अलर्ट: तमिलनाडु में घुसे लश्कर के 6 आतंकी  पत्नी की हत्या के मामले में फंसा BJP के पूर्व विधायक का बेटा, हो सकती है गिरफ्तारी
 

कृषि मंत्री बिहार ने इमामगंज में किया प्रेस कॉन्फ्रेंस


संतोष कुमार 10/01/2019 09:22
264 Views

'25478232-d762-4217-80a1-8469c152cbd3.jpg'

बिहार के कृषि मंत्री डॉ० प्रेम कुमार ने बुधवार को ईमामगंज प्रखंड के कोचया गांव में बीजेपी के जिला अध्यक्ष धनराज शर्मा के पिता जी के निधन के बाद आयोजित शोकसभा से लौटने के बाद संजय गांधी इंटर कॉलेज इमामगंज में पत्रकारों के साथ प्रेस वार्ता करते हुये कहा की अब बिहार राज्य बीज निगम और अन्य बीज कंपनियों के माध्यम से किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज किसानों को समय पर मिलेगा। जिससे बिहार सरकार एप से पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन बीज वितरण व मॉनीटनिंग एप के माध्यम से राज्य में बीज उत्पादन, प्रसंस्करण, वितरण और विपणन आसानी से होगा। पूरी प्रक्रिया पारदर्शी होगी। आसानी से मॉनिटरिंग होगी। इस एप में किसानों को पहचान आधार नंबर के माध्यम से बायोमैट्रिक ऑथेंटिकेशन द्वारा किया जायेगा। बिना किसी परेशानी और बिना किसी अभिलेख के किसानों को ऑन स्पॉट बीज उपलब्ध होगा। उन्होंने बताया की एप के मदद से किसानों को डायरेक्ट लाभ मिलेगा। बीज की कालाबाजारी और बिचौलियों के चंगुल से भी लोगों को मुक्ति मिलेगा उन्होंने कहा सिंचाई सुविधा बहाल करने के लिए नहर, पइन, डैम, आहार, पोखर की मरम्मत करायी जा रही है। बिहार के 38 में से 24 जिलों में 280 प्रखण्ड सुखाड़ की चपेट हैं। इनमें गया जिले के ईमामगंज, डुमरिया, बांकेबजार भी शामिल हैं। सूखे की मार झेल रहे 1,61,743 किसानों से आवेदन लेकर करीब 73,690 किसानों को 57 करोड़ रुपये की कृषि सहायता राशि खाते में भेज दी गयी है। पहाड़ी क्षेत्र के आठ जिलों के किसानों को कम पूंजी व कम पानी से सिंचाई कर बहेतर फसल उपजाने की ट्रेनिंग दिलायी जायेगी। कृषि यंत्र मेला अनुमंडल स्तर पर लगाया जायेगा। पंचायतों में बने कृषि भवन में भी सारी सुविधा मुहैया करायी जायेगी। जिस पंचायत में अपना भवन नहीं है, उसमें भाड़े पर भवन लेकर कृषि कार्यालय खोला जायेगा। उन्होंने कहा कि कृषि रोड मैप बनाकर जल संचय करने की भी तैयारी चल रही है। बिहार में 44 लाख 84 हजार 430 आवेदन आया है। इनमें से एक लाख 54 हजार, 372 किसानों का निबंधन भी हो चुका है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुये कहा की वे सिंचाई की सुविधा के लिए डैम आहर पोखकर कहां-कहां बनाये जा सकते हैं, इसकी सूची तैयार कर शिघ्र दें। मौके पर ई टी वी बिहार/ प्रभात खबर पत्रकार निर्भय पांडे, दैनिक भास्कर पत्रकार अजय प्रसाद,हिंदुस्तान पत्रकार अजय कुमार,दैनिक जागरण पत्रकार देवेंद्र प्रसाद के अलावा कारू सिंह, गंगाधर पाठक, पंकज सिंह चौहान, गजेंद्र दास, प्रमोद सिन्हा, प्रदीप सिंह, मनोज शर्मा, महेन्द्र गिरी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Web Title: ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया