सवर्ण आरक्षण बिल पर मायावती की ये खतरनाक चाल, बीजेपी सहित पूरा एनडीए हो जाएगा ढेर


RAGHVENDRA CHAURASIA 10/01/2019 14:44 PM
1995 Views

New Delhi. देश में आम चुनाव से पहले केंद्र की मोदी सरकार ने सवर्ण आरक्षण बिल लाकर बड़ा दांव चल दिया है। विपक्षी दल मोदी के इस बड़े दांव की काट निकाल लिए हैं। खासतौर पर सबसे पहले मायावती ने सवर्ण बिल पर समर्थन देकर सवर्णों में संदेश दे दिया कि बसपा आपकी हितैषी है। मायावती के समर्थन के बाद से ही अन्य दल समर्थन के लिए आगे आए हैं।

This dangerous move of Mayawati on the upper reservation bill

 वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

 यूपी में बीजेपी हो सकता है नुकसान

देश में सवर्ण आरक्षण बिल पास होकर मोदी सरकार ने भले ही बड़ा दांव चल दिया है, लेकिन इसमें दो राय नहीं है कि मायावती कई बार सार्वजनिक मंचों पर गरीब सवर्णों को आरक्षण देने की वकालत कर चुकी हैं और इसलिए उन्होंने इस बिल पर सबसे पहले समर्थन के लिए हामी भर दी। मायावती की यही राजनीतिक चाल यूपी में बीजेपी को नुकसान व सपा-बसपा को बड़ा फायदा पहुंचा सकती है। मायावती की इसी चाल से बीेजेपी नहीं, बल्कि अन्य पार्टियां भी ढेर हो जाएंगी। 

This dangerous move of Mayawati on the upper reservation bill

  दो बड़े नेताओं की मुलाकात ने मोदी की उड़ाई नींद

राज्यसभा में बुधवार को आरक्षण बिल पर बोलते हुए बसपा नेता सतीश मिश्रा केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर बरसे। सतीश मिश्रा ने कहा कि नए साल पर दो पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्ष की मुलाकात ने मोदी की नींद उड़ा कर रख दी थी। इसी कारण पीएम मोदी ने रातोंरात सवर्णों को आरक्षण देने का फैसला ले लिया। मिश्रा ने कहा कि गरीब सवर्णों को आरक्षण के लिए बहन जी सालों से कह रही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की नीयत ठीक नहीं है ,अगर नीयत ठीक होती तो यह बिल पहले आ गया होता और कितने बेरोजगारों को रोजगार मिल जाता। सतीश मिश्रा ने कहा कि इससे सरकार को चुनाव में कोई फायदा होने वाला नहीं है। 

यह भी पढ़ें..सदन में मायावती को इस दिग्गज नेता ने ऐसा क्या कहा, मांगनी पड़ गई माफी

Web Title: This dangerous move of Mayawati on the upper reservation bill ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया