मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

सीबीआई चीफ के पद से हटाए जाने के बाद आलोक वर्मा ने तोड़ी चुप्पी 


GAURAV SHUKLA 11/01/2019 11:43 AM
125 Views

Lucknow. उच्चस्तरीय चयन समिति की ओर से सीबीआई निदेशक के पद से हटाए जाने के बाद आलोक वर्मा ने दावा किया है कि उनके तबादले और हो रहे विरोध की कड़ी में लगाए जा रहे आरोप झूठे, निराधार और फर्जी हैं। बता दें कि गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी की उच्चस्तरीय चयन समिति ने भ्रष्टाचार औऱ कर्तव्यों में लापरवाही को लेकर आलोक वर्मा को पद से हटा दिया। 

CBI chief ke pad se hataye jane ke baad alok verma ne toodi chuppi
न्यूज एजेंसी को दिए बयान में आलोक वर्मा ने कहा कि भ्रष्टाचार के हाई प्रोफाइल मामलों की जांच करने वाली महत्वपूर्ण एजेंसी होने के नाते सीबीआई की स्वतंत्रता को सुरक्षित और स्वतंत्र रखना चाहिए। इसे बिना किसी बाहरी दबावों के काम करना चाहिए। इसी के साथ उन्होंने कहा कि मैंने एजेंसी की ईमानदारी को बनाए रखने की कोशिश की, लेकिन अब उसे बरबाद करने का प्रयास किया जा रहा है।  

यह भी पढ़ें... अयोध्या : जस्टिस ललित ने बेंच से खुद को अलग किया, 29 जनवरी को होगी अगली सुनवाई
बता दें कि सीबीआई निदेशक का प्रभार फिलहाल अतिरिक्त निदेशक एम नागेश्वर राव के पास है। एम नागेश्वर राव 1986 बैच के ओडीशा कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्हें 23 अक्टूबर 2018 को देर रात सीबीआई निदेशक का दायित्व और कार्य सौंपे गये थे। 

Web Title: CBI chief ke pad se hataye jane ke baad alok verma ne toodi chuppi ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया