मुख्य समाचार
राहुल गांधी सहित 11 विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोका, नहीं दी इजाजत मायावती ने बाबा साहब को लेकर कही ये बात, जीत लिया जनता का दिल पूरे देश में जन्माष्टमी की धूम,राष्ट्रपति व पीएम मोदी ने देशवासियों को दी बधाई शुक्रवार को घर-घर जन्में नन्दलाल बड़ा ऐलान: तेजस्वी की जगह इस नेता के नेतृत्व में आरजेडी लड़ेगी विधानसभा चुनाव चौथे दिन भी सोने के दाम ने पकड़ी रफ्तार, कीमत 39 हजार पहुंचने में 5 रुपये कम श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर 400 बेसहारा गौ माताओं को अर्पण किया जाएगा भोजन CBSE स्कूलों के बच्चों को अब ये काम करने पर मिलेगा ग्रेड मुलायम के अचानक सपा दफ्तर पहुंचने पर मचा हड़कंप, कार्यकर्ताओं को दे डाली ये नसीहत स्कूल बस ने युवक को मारी टक्कर हुई मौत, चालक फरार  बच्चा चोर गिरोह के शक में चार साधु वेशधारियों को ग्रामीणों ने पकड़ा कुंभ के प्रचार-प्रसार के नाम पर कारोबारी से हुई ठगी  गाड़ी से रौंदकर 2 की हत्या मामले में चौकी प्रभारी हुए लाईन हाजिर, इन जगहों पर बरती गयी लापरवाही  अलर्ट: तमिलनाडु में घुसे लश्कर के 6 आतंकी  पत्नी की हत्या के मामले में फंसा BJP के पूर्व विधायक का बेटा, हो सकती है गिरफ्तारी
 

विवादित बयान पर क्षत्रिय महासभा ने सपा प्रवक्ता का पुतला फूंका


DEEP KRISHAN SHUKLA 12/01/2019 11:19:05
351 Views

UNNAO. राजाओं को अंग्रेजों का गुलाम वाले बयान सपा प्रवक्ता का विरोध जारी है। उन्नाव जिले के हसनगंज तहसील में सपा प्रवक्ता के बयान से आक्रोशित भारतीय क्षत्रिय महासभा ने सुनील सिंह साजन का पुतला फूंका। नाराज क्षत्रियों कहा कि ऐसे नेता को तत्काल पार्टी से निकाल देना चाहिए अन्यथा चुनाव में इसके नतीजे भुगतने पड़ेगें। 

vivadit bayan par kshtriy mahasabha ne spa pravakta ka putla funka
हसनगंज तहसील चौराहे के पास अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा संगठन ने जिला अध्यक्ष की अगुवाई में सैकड़ों कार्यकर्ता एकत्र हुए। जहां उन्होंने सपा प्रवक्ता सुनील साजन के एक न्यू चैनल पर डिबेट में राजाओं को अंग्रेजों का गुलाम बताए जाने पर आक्रोश व्यक्त किया। सुनील साजन का पुतला बनाकर मुर्दाबाद नारे लगाते हुए उसे आग के हवाले किया।

वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

महासभा के जिलाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने कहा कि जहां तक मेरी जानकारी है स्वतंत्र भारत में अनुसूचित जाति-जनजाति एवं सामान्य दो ही वर्ग थें। इसके बाद देश आजाद होने के बाद अनुसूचित जाति जनजाति आयोग बना। उस समय तक पिछड़ा वर्ग आयोग नहीं था। सन् 1969, 1973 में इसकी मांग हुई काका कालेकर की तरफ से एक प्रस्ताव आया और उस पर विचार हुआ सन 1973, 1974 के बाद पूरे देश में सर्वेक्षण हुआ। सर्वेक्षण के बाद क्षत्रिय समाज में कुछ ऐसी जातियां पाई गई जो पिछड़ गई थी जिन्हें अलग कर पिछड़ा वर्ग बना। उन्होंने कहा कि कहा के हम सुनील साजन से पूछना चाहते हैं कि जब पिछड़ा वर्ग नहीं बना था उस समय वह किस वर्ग में थे। इसलिए सुनील सिंह साजन को इस बयान पर माफी मांगनी चाहिए और पार्टी अध्यक्ष ऐसे नेता को पार्टी से बाहर कर देना चाहिए। अन्यथा आने वाले चुनाव के समय विरोध झेलना पड़ेगा।
इस मौकेपर जिलाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह, आशीष सिंह, ओमकार सिंह, नंहक्के सिंह, मनोज सिंह, विनोद सिंह, हरिप्रकाश सिंह, बलबीर सिंह, कुँवर बहादुर सिंह ,ब्रजलाल, लालजी सिंह, अरुण सिंह, अनिल सिंह, रामनरेश सिंह, मोहित सिंह, संजय सिंह ,अर्जुन सिंह, सुखबीर सिंह, नरेंद्र सिंह, दिलीप राजपूत,लिटिल सिंह आदि सैकड़ो क्षत्रिय मौजूद रहे।

 

यह भी पढ़े...UPSC 2018 के इंटरव्यू का इंतजार खत्म, यहां देखें पूरी जानकारी

 

Web Title: vivadit bayan par kshtriy mahasabha ne spa pravakta ka putla funka ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया