मुख्य समाचार
KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल
 

मायावती का बड़ा खुलासा: ये दो चीजें हुई तो हार सकता है सपा-बसपा गठबंधन


ABHIMANYU VERMA 12/01/2019 14:02:39
1225 Views

Lucknow. लोकसभा चुनाव के लिए यूपी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन का औपचारिक ऐलान हो गया है। इसकी घोषणा शनिवार को सपा और बसपा राष्ट्रीय अध्यक्षों की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में की गयी। इस दौरान बसपा अध्यक्ष मायावती ने दोनों पार्टियों की ज्यादा से ज्यादा सीटों पर जीत का भरोसा जताया। हालांकि उन्होंने इस दौरान उन दोनों बातों का जिक्र भी किया जिनसे उनकी पार्टी को हार का डर है। 

Akhilesh yadav Mayawati Press Conference

दरअसल, बसपा सुप्रीमो मायावती ने यूपी में गठबंधन को लेकर आयोजित प्रेस कांफ्रेस में बोल रहीं थी। इस दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राज में घोषित इमरजेंसी थी और अब तो देश में अघोषित इमरजेंसी है। मोदी एंड कंपनी सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर प्रभावी विरोधियों के खिलाफ गड़े मुकदमे उखाड़ कर उनको परेशान कर रहे हैं। इसलिए दोनों पार्टियों ने गठबंधन का फैसला किया है। गठबंधन के जरिए भाजपा को सत्ता में जाने से रोका जा सकता है उन्हें इसमें कामयाबी मिलने की भी उम्मीद है। 

Akhilesh yadav Mayawati Press Conference

यह भी पढ़ें:-...सपा-बसपा गठबंधन में यह नेता मजबूत, इन्हीं के इशारे पर चलेंगी दोनों पार्टियां 

वहीं, मायावती ने आशंका जताते हुए कहा कि उनकी पार्टी तभी जीत हासिल करने में कामयाब हो पाएगी। अगर भाजपा पहले की तरह ईवीएम में गड़बड़ी न करे और राम मंदिर जैसे मुद्दों से धार्मिक भावनाओं को नहीं भड़काए। 

बता दें कि लखनऊ के ताज होटल में आयोजित अखिलेश और मायावती की साझा प्रेस कांफ्रेंस में दोनों पार्टियों के गठबंधन का औपचारिक ऐलान हो गया है। जिसमें सपा-बसपा 38-38 सीटों पर और अन्य सहयोगी 2 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। वहीं, बची दो सीटें अमेठी और रायबरेली कांग्रेस के लिए छोड़ दी गयी हैं। हालांकि कांग्रेस को गठबंधन से अलग रखा गया है।  

Web Title: Akhilesh yadav Mayawati Press Conference ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया