मुख्य समाचार
मायावती ने फिर उठाया ये पुराना मुद्दा, कहा- भाजपा की साजिश में शामिल थे मुलायम आम उत्पादन के क्षेत्र को विस्तारित करने पर शोध करें : राज्यपाल RBI को फिर लगा बड़ा झटका, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अचानक दिया इस्तीफा सबके विकास से ही देश का विकास होगा : राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले : महापौर संयुक्ता भाटिया करणी सेना को डायरेक्टर ने दिया जवाब, दोनों पक्षों में घमासान ससुरालियों को नशीला पदार्थ खिलाकर शादी के दूसरे दिन ही अपने प्रेमी संग फरार हुई दुल्हन बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाला रिश्तेदार पुलिस के हत्थे चढ़ा विराट कोहली ने विश्व कप में किया ये कमाल और कर ली इस कप्तान की बराबरी BSP सांसद के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता ट्रिपल मर्डर से दहली दिल्ली, बुजुर्ग दंपति और नौकरानी की हत्या फिर वायरल हुई अनोखे अंदाज में प्रिया प्रकाश की फोटो, पहचानना हुआ मुश्किल कांग्रेस पार्टी को मिला नया राष्ट्रीय अध्यक्ष, राहुल गांधी का इस्तीफा मंजूर! सुहाना का पोल डांस सोशल मीडिया पर वायरल राजस्थान की जेल से भाग निकले दुष्कर्म और हत्या के तीन आरोपी शमी ने कहा, हमारी गेंदबाजी ने जीत अपनी झोली में डाल ली इंदौर में ऑनर किलिंग का मामला आया सामने, भाई ने गर्भवती बहन को मारी गोली ईरान पर हमले का खतरा टला नहीं, नए प्रतिबंध लगाने की तैयारी में अमेरिका सतर्कता अधिष्ठान ने शुरू की मायावती शासनकाल के 45 कर्मियों की भ्रष्टाचार व संपत्ति की जांच
 

योगी जी! आपके मंत्री ही बन गए भूमाफिया, पीड़ित किसान ने दी आत्मदाह की चेतावनी


RAJNISH KUMAR 12/01/2019 15:51:52
325 Views

प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भू-माफियाओं पर नकेल कसने और अवैध कब्जों पर रोक लगाने के लिए ने एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स गठित करने का निर्देश दिया था। इसके साथ ही एंटी भू-माफिया पोर्टल भी लॉन्च किया गया, लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात है कि सीएम योगी के राज में कोई और नहीं बीजेपी नेता ही भू-माफिया बन बैठे हैं। अधिकारियों की हीलाहवाली और लापरवाही के कारण भू-माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। पीड़ित इंसाफ गुहार लगा रहे हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ताजा मामला मथुरा जिले का है, जहां पीड़ितों ने योगी सरकार के मंत्री के भाई पर अवैध कब्जा करने का आरोप लगाया है।

yogi ji aapke mantri hi ban gye bhoo mafia

जानकारी के मुताबिक, प्रदेश के मथुरा के गुर्जर घाटी निवासी पंडित महेश चौबे, मोहन नगर जयसिंहपुरा निवासी हरिओम और वृंदावन गेट निवासी गांविंद शर्मा ने बताया कि मौजा जयसिंहपुरा वांगर में उनकी संयुक्त जमीन है, जिसकी खसरा संख्या 706/0.105, 712 मि/0.085, खसरा संख्या 709 मि/0.042, 711/0.061 और खसरा संख्या 696/0.073, 697/0.024 हैं। यह जमीन उक्त तीनों लोगों के सम्मिलित खाते में है, लेकिन उनकी जमीन पर योगी सरकार के मंत्री लक्ष्मी नरायण चौधरी के भाई एवं पूर्व एमएलसी लेखराज सिंह चौधरी पर कब्जा करा रहे हैं।

yogi ji aapke mantri hi ban gye bhoo mafia

पीड़ित ने इसकी शिकायत एसडीएम से शिकायत की थी। इसके बाद एसडीएम ने जमीन की जांच करने का निर्देश दिया था। जांच में सही पाए जाने पर एसडीएम ने पुलिस को आदेशित किया था, लेकिन अब तक जमीन कब्जा मुक्त नहीं हो सकी है।

yogi ji aapke mantri hi ban gye bhoo mafia

वहीं, पीड़ितों ने एंटी भूमाफिया पोर्टल पर भी शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पीड़ितों ने एसडीएम से भूमि पर कब्जा रुकवाने की मांग की है। इसके साथ पीड़ितों ने प्रशासन व योगी सरकार को 36 घंटे में कार्रवाई करने की मांग की है। पीड़ितों ने पुलिस प्रशासन पर भूमाफियाओं से मिले होने का आरोप लगाया है।

yogi ji aapke mantri hi ban gye bhoo mafia

पीड़ितों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि हमारी मांगों को सुना नहीं गया तो हम लोग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने जाकर आत्मदाह कर लेंगे। इस मामले में जब डीएम से फोन पर सम्पर्क किया गया तो डीएम के अर्दली ने फोन रिसीव किया। कमिश्नर से मीटिंग का हवाला देते हुए बाद में बात करने की बात कही। इसके बाद जब सम्पर्क किया गया तो सम्पर्क नहीं हो सका।

यह भी पढ़ें ... यूपीए ने भी चला था आरक्षण का दांव, मिली थी करारी हार

Web Title: yogi ji aapke mantri hi ban gye bhoo mafia ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया