मुख्य समाचार
स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल 12वीं पास को यहां नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन आराध्या बच्चन ने अपने कमाल के डांसिंग मूवस से जीता सबका दिल, देखें वीडियो ...तो एडल्ट बैकग्राउंड पर शर्मिंदा होती सनी लियोनी? दिए चौंकाने वाले जवाब Exit Polls में कांग्रेस के लिए एक खुशखबरी Redmi Note 7s स्मार्टफोन भारत में लॉन्च, जानें कीमत गर्लफ्रेंड गैब्रिएला के साथ मालदीव में छुट्टी बिता रहे हैं अर्जुन रामपाल, देखें तस्वीरें ...तो यूपी में बीजेपी का सूपड़ा हो जाएगा साफ, मायावती बनेंगी किंग मेकर! सिद्धू के पास एकमात्र विकल्प, इमरान खान की पार्टी कर लें ज्वाइन कुख्यात बदमाश ने दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर को पीट-पीटकर मार डाला IAS बनने का है सपना, यहां फ्री में पाएं UPSC कोचिंग की सुविधा इस नियम को तोड़कर शिल्पा शेट्टी ने लिया इफ्तार पार्टी का मजा, शेयर किया वीडियो पाकिस्तानी बल्लेबाज आसिफ अली की बेटी की मौत, कैंसर का थी शिकार राज्यपाल ने ‘मधु अभिलाषा’ और ‘हिंद स्वराज्य का पुनर्पाठ’ पुस्तकों का किया विमोचन कांग्रेस अंतिम चरण की सात से ज्यादा लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेगी: प्रवक्ता पाकिस्तान की दो बेटियों ने काशी में किया मतदान, बोलीं बेहतरीन है हिंदुस्तान
 

कांग्रेस की इस चाल से सपा-बसपा गठबंधन को लगेगा बड़ा झटका


SUJEET KUMAR 13/01/2019 10:41:34
1188 Views

Lucknow. उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच हुए गठबंधन के बाद विपक्ष लोकसभा चुनाव में जीत की रणनीति बनाने में जुट गया है। इसमें कांग्रेस पहले नंबर है। सपा बसपा से दरकिनार हुई कांग्रेस अब अकेले ही चुनावी मैदान में उतरेगी। इसका नेतृत्व खुद कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी करेंगे। खबरों की मानें तो यूपी में एक बड़े बदलाव और आक्रामक नंदाज में चुनावी मैदान में कांग्रेस उतरेगी, क्योंकि लोकसभा चुनाव में उसकी सबसे बड़ी चिंता जातीय गोलबंदी को तोड़ने की है। इसके लिए विशेष रणनीति पर काम चल रहा है। माना जा रहा है कि कांग्रेस जल्द ही कई बड़े असंतुष्ट वर्ग को अपने पाले में लाकर, उनके लिए बड़े ऐलान कर सकती है।

samajwadi party And bahujan samaj party alliance

कांग्रेस नेताओं का कहना है कि अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सीधे तौर पर प्रदेश के चुनावी समीकरण पर अपनी नजर रखेंगे। कांग्रेस आक्रामक रणनीति के तहत बड़ी तादाद में राहुल गांधी की चुनावी रैलियां प्लान कर रही है। प्रदेश के पश्चिमी हिस्से से शुरू होने वाली राहुल की रैलियां, इस महीने के अंत तक करीब-करीब यूपी के ज्यादातर हिस्सों में अपनी बात पहुंचाएंगी। खेती-किसानी के मामलों के अलावा, कांग्रेस की नजर कर्मचारियों पर भी है। 

यह भी पढ़ें...गठबंधन के बाद मायावती-अखिलेश ने बनाया मास्टर प्लान, एक साथ करेंगे 18 चुनावी रैलियां

बता दें कि यूपी में कर्मचारी वर्ग अपने वेतन और पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर केंद्र और योगी सरकार से नाराज चल रहा है। ऐसे में कांग्रेस इसका फायदा उठा सकती है। उसने फरवरी से हड़ताल की घोषणा भी की है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस कर्मचारियों की मांग को पूरा करने का ऐलान भी कर सकती है। अगर ऐसा होता है तो यह कांग्रेस की तरफ से वह बड़ा कदम होगा, जो केंद्र सरकार के 10 फीसदी आरक्षण कार्ड के काट की तौर पर इस्तेमाल होगा।

यह भी पढ़ें...यूपी महागठबंधन में जगह न मिलने पर राहुल का चौंकाने वाला बयान, समर्थकों का जीत लिया दिल

कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह के मुताबिक, लोकसभा चुनाव हम और आक्रामक होकर लड़ेंगे। हमारे भीतर किसी भी तरह का संदेह नहीं है। कांग्रेस हर उस वर्ग की समस्याओं को दूर करने के लिए कृतसंकल्प है, जो सरकार से असंतुष्ट हैं। भले ही वो कर्मचारी हों, किसान हों, बेरोजगार हों या नौजवान। सबका ख्याल कांग्रेस रखेगी।

यह भी पढ़ें...इस ब​ड़े नेता ने कराया मायावती व अखिलेश का गठबंधन,बीजेपी में छाई बैचेनी


कांग्रेस मान रही है कि अभी चुनाव में काफी कुछ बचा हुआ है। बीजेपी ने अपनी चाल चल दी है और सपा-बसपा भी अपना पासा फेंक चुके हैं। अब बारी कांग्रेस की है तो उसके तरकश में बड़ा तीर यही है कि जरूरतमंदों के मुद्दों को कैसे रखा जाए कि वो जातियों के गोलबंदी से बाहर निकलकर कांग्रेस के हिस्से में खड़े हो सकें। छोटी पार्टियों से भी संपर्क साधा जा रहा है।

Web Title: samajwadi party And bahujan samaj party alliance ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया