राजधानी में तीन पशु आश्रय स्थल चालू, दो दर्जन एक सप्ताह मे चालू होने की संभावना


LEKHRAM MAURYA 16/01/2019 14:23:09
270 Views

Lucknow.गोवंश आश्रय स्थलों को कितनी जल्दी तैयार कराया जाए इसे लेकर बुधवार को विकास खण्ड माल में मुख्य विकास अधिकारी मनीष बंसल ने ग्राम पंचायत अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में पशु आश्रय स्थलों को अतिशीघ्र तैयार करने और पशुचर की अवैध कब्जे वाली जमीनों को खाली कराकर उनमे पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था करने एवं जिनका रकबा अधिक है उनको पशु आश्रय स्थल के रूप में विकसित करने के ​लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

Three animal shelter sites in capital, likely to be operational in two dozen weeks

इसके अलावा मुख्य विकास अधिकारी मड़वाना में बनाए जा रहे पशु आश्रय स्थल का भी निरीक्षण कर सकते हैं। गत माह प्रमुख सचिव बीकेटी के निरीक्ष्ण पर चले गये थे। वह इस माह माल विकास खण्ड का निरीक्षण करने आ रहे हैं ऐसी जानकारी अधिकारियों से मिल रही है। इसीलिए​ सी​डीओ विकास खण्ड का भी निरीक्षण करेंगे। 


विकास खण्ड माल मे निर्माणाधीन एक मात्र पशु आश्रय स्थल में इतनी तेजी से काम चल रहा है कि यह एक सप्ताह में बनकर तैयार हो जाने की सम्भावना है। इस आश्रय स्थल में जेसीबी की मदद से चारों ओर गहरी खाईं खोदी गयी है। जिसके ऊपर पिलर के साथ कटीले तार लगाने का काम प्रारम्भ हो गया है। प्रधान पति राकेश सिंह ने बताया कि पानी की व्यवस्था हो गयी है और जल्द ही तालाब को खोदकर उसमे पानी भरने की व्यवस्था की जाएगी। छाया के लिए टीनशेड को लगाने का काम भी एक दो दिन हो होने लगेगा। चारा खाने के लिए पेड़ों के पास नांद रखवाने का प्रबन्ध किया जा रहा है। इस पशु आश्रय ​स्थल का रकबा करीब लगभग 12 बीघे है। 

राकेश सिंह का दावा है कि वह अधिक से ​अधिक गोवंश को रखने की व्यवस्था कर रहे हैं। दूसरी ओर कांजी हाउस माल के पशुओं की स्थिति अभी तक ठीक नहीं है। डीसी मनरेगा लखनऊ डीके दोहरे ने बताया कि लखनऊ जिले में अभी तक 88 पंचायतों में पशु आश्रय स्थलों के लिए जमीन चिन्हित की जा चुकी है। जिनमे से 46 निर्माणाधीन हैं। मोहनलालगंज मे दो और सरोजनीनगर मे एक चालू हो गया है। अगले तीन दिन मे 2 और चालू हो जाएंगे। एक सप्ताह मे 15 से 20 और चालू होने की सम्भावना है।

इसके अलावा आगरा के जगनेर क्षेत्र के गांव नैनी मे स्थित एक गोशाला में गाय के मरने पर संचालकों के खिलाफ एसडीएम ने एफआईआर दर्ज करा दी है।  चित्रकूट मे फसल चरने से परेशान किसानों ने 200 से अधिक अन्ना मवेशियों को ब्लाक परिसर मे भर दिया जिससे वहां अफरा तफरी का माहौल हो गया। बाद मे एसडीएम ने उन्हे मंडी परिसर मे पहुंचवाया। इसी प्रकार अलीगढ़ मे गोवंश खड़ा कर शिक्षा राज्यमंत्री का रास्ता रोककर उन्हे अपनी समस्या बताने का प्रयास किया। बाद मे पुलिस ने उन्हे समझा बुझाकर मंत्री का रास्ता खुलवाया। 

Web Title: Three animal shelter sites in capital, likely to be operational in two dozen weeks ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया