यूपीए की नैया पार लगाएंगे किसान!


ABHIMANYU VERMA 19/01/2019 13:57:22
152 Views

New Delhi. केंद्र की सत्ता से पांच साल दूर रहने के बाद कांग्रेस फिर से वापसी के लिए बेताब दिखाई पड़ रही है, जिसके लिए वह देश के ऐसे वर्गों को खुश करने की कोशिश में जुटी है, जो वर्तमान सरकार से बेहद नाराज दिखाई पड़ रहे हैं। इसमें सबसे बड़ा वर्ग किसानों का है। बीते कुछ सालों में इस वर्ग की सरकार के खिलाफ नाराजगी खुलकर सामने आयी है। इस दौरान किसान संगठनों की ओर से कई बार राष्ट्रीय स्तर पर विरोध प्रदर्शन भी हुए। वहीं, अब कांग्रेस की नेतृत्व वाली यूपीए इस मुद्दे को भुनाने की कोशिश में जुट गई है। 

UPA to raise issue of farmers

देश के राजनीतिक इतिहास को देखें तो किसानों का मुद्दा सबसे बड़ा रहा है। राजनीतिक पार्टियां इसे हमेशा से मुद्दा बनाती रही हैं। वहीं, यूपीए एक बार फिर इस मुद्दे को उठाकर देश की सत्ता में वापसी की कोशिश में जुट गई है, जिसमें वह अपना सबसे बड़ा हथियार किसानों की कर्जमाफ़ी को बनाने वाली है। इसे लेकर उसने अपना सबसे बड़ा दांव भी चल दिया है। 

UPA to raise issue of farmers

दरअसल, पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में आयोजित किसान रैली में एक बड़ा ऐलान किया है। राहुल ने कहा कि अगर लोकसभा चुनाव के बाद उनकी सरकार बनती है तो कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की तरह देश भर के किसानों का कर्जमाफ़ कर दिया जाएगा। राहुल के इस ऐलान को एक बड़े सियासी दांव के तौर पर देखा जा रहा है। 

UPA to raise issue of farmers

गौरतलब है कि पिछले डेढ़ साल से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बार-बार किसानों की कर्जमाफ़ी के मुद्दे को उठाते रहे हैं। राहुल गांधी का आरोप रहा है कि मोदी सरकार ने उद्योगपतियों के कर्ज माफ किए, लेकिन किसानों के कर्ज माफ नहीं किए। वहीं, पिछले चुनाव के नतीजों को देखें तो यह कहना कुछ गलत नहीं होगा कि राहुल गांधी के इन आरोपों ने चुनाव के नतीजों पर काफी असर डाला है। अब कांग्रेस इस मुद्दे को फिर से लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार के खिलाफ इस्तेमाल करने वाली है। 

Web Title: UPA to raise issue of farmers debt waiver ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया