मुख्य समाचार
अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन सथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल बच्चों में गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार भी जरूरी : ब्रजेश पाठक  रवि किशन ने राहुल को दी नसीहत, सीरियस नहीं हुए तो राजनीति से करियर खत्म योगी सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी नहीं असरदार कार्य कर रही है : उप मुख्यमंत्री जय श्रीराम न बोलने पर बागपत में मौलाना की पिटाई सावन की पूर्णिमा व अमावस्या पर होगी भव्य गंगा आरती पहले दूसरे जाति की लड़की से की शादी, फिर बेइज्जती के डर से पत्‍नी की करवा दी हत्या
 

सन्नाटे में 850 करोड़ का अस्पताल


JAGDISH KUMAR 23/01/2019 12:49:56
168 Views

Lucknow. चक गंजारिया स्थित कैंसर संस्थान की ओपीडी संसाधन के आभाव की वजह से बंद होने की हालत में है। यही वजह हैं ,की दो साल पहले शुरू किए गए इस संस्थान में सन्नाटा फैला रहता हैं। यहां मौजूदा समय में 12 डांक्टर हैं, लेकिन जांच वा दवाईयां ना मिलने की वजह से मुश्किल से रोज 4 या 5 मरीज आते हैं। अधिकारियों का कहना हैं कि लीनियर एक्सीलेटर, सीटी और एमआरआई जांच शुरू हो जाएगी, जिसके चलते मार्च से ओपीडी ठीक से शुरू कर दी जाएगी।

850 crores hospital in silent

मरीजों की सुविधा के लिए संस्थान प्रशासन ने 108 एम्बुलेंस सेवा से मदद मांगी थी। दो एंबुलेंस मुख्य मार्ग पर लगाई गई थीं। मुख्य मार्ग से एंबुलेंस मरीजों को अस्पताल तक लेकर आ रही थीं। जरूरत पड़ने पर मरीजों को दूसरे अस्पताल भी भेजा जा रहा था। इसकी वजह से मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा था। लेकिन दोनों एंबुलेंस को हटा दिया गया है। इससे ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या लगातार कम होने लगी है। मरीजों की सुविधाओं के लिए दो एम्बुलेंस खरीदने की घोषणा पिछले दिनों चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने की थी, लेकिन एंबुलेंस की खरीद-फरोख्त नहीं हो सकी। इसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। धीरे-धीरे अस्पताल की ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या लगभग शून्य हो गई है। 

यह भी पढें...बड़ी खबर: राजनीति ज्वाइन कर सकती हैं एंजेलीना जोली

 

Web Title: 850 crores hospital in silent ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया