धर्मसभा में गौ को राजमाता का दर्जा देने का उठेगा मुद्दा : लोक परमार्थ सेवा समिति


ABHIMANYU VERMA 30/01/2019 13:53:33
209 Views

Lucknow. लोक परमार्थ सेवा समिति ने कुम्भ मेले में होने वाली धर्म संसद में गाय को राज्य माता का दर्जा दिलाने के मुद्दे को उठाने को लेकर गौ रक्षा विभाग यूपी व उत्तराखंड के प्रभारी डॉक्टर हेमंत दुबे और कई साधु संतों से भी अनुरोध किया है। जिसको लेकर दोनों ने सहमति जतायी है। इससे पहले समिति ने मथुरा वृन्दावन के मलूकपीठाधीश्वर राजेन्द्र दास जी महाराज को इस मुद्दे कों धर्म संसद में उठाने के लिए पत्र लिखा था। 

kumbha dharma sansad mein gau  ko rajmata ka darja dene ka uthega mudda lok parmarth seva samiti

समिति का कहना है कि यूपी देश का सबसे बड़ा राज्य है और यहां के सीएम योगी आदित्यनाथ खुद गौभक्त हैं, अगर उनके शासनकाल में गौ-माता को राज्य माता का दर्जा न मिला तो इससे गौ-भक्तों को काफी निराशा होगी। जब तक गौमाता को यूपी के साथ-साथ पूरे देश में सम्मान नहीं मिलेगा, तब तक राम मंदिर बनने के मार्ग में अड़चने आती रहेंगी, इस बात को ऐसे समझा जा सकता है कि क्योंकि गौ की पूजा भगवान श्रीकृष्ण करते हैं और भगवान राम उन्हें प्रेम करते हैं। 

यह भी पढ़ें:-...अतिरिक्त डुबकी लगा कर गौ माता को राज माता का दर्जा दिलाने की प्रार्थना

kumbha dharma sansad mein gau  ko rajmata ka darja dene ka uthega mudda lok parmarth seva samiti

समिति की प्रवक्ता श्रीश शर्मा ने बताया कि पिछले कई वर्षों से गौ माता को राज्य माता का दर्जा दिए जाने कों लेकर यूपी सरकार से करती आ रही है। समिति ने 7 दिसंबर 2017 को उत्तर प्रदेश सरकार के सभी मंत्रियों को पत्र भेजकर अनुरोध किया था कि वे भी अपने स्तर से सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर गौ को राज्य माता का दर्जा दिलवाने में अपना योगदान दे। लेकिन समिति को कष्ट तब हुआ जब यूपी सरकार के एक मात्र मंत्री जय कुमार जैकी को छोड़कर बाकी किसी मंत्री का जवाब नही मिला। इससे समिति व गौ भक्तो को बहुत ही निराशा हुई।

Web Title: kumbha dharma sansad mein gau ko rajmata ka darja dene ka uthega mudda lok parmarth seva samiti ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया