बंगाल में सीबीआई बनाम पुलिस विवाद मोदी बनाम ममता में हुआ तब्दील


DEEP KRISHAN SHUKLA 04/02/2019 09:53:33
268 Views

New Delhi. बंगाल के बवाल की चर्चा पूरे देश में है। यह घटना देश में भविष्य को देखते हुए शुभ संकेत नहीं है, जिस तरह दो जांच एजेंसियों के बीच टकराव हुआ है वह संवैधानिक संकट की ओर ले जाने वाला है। बता दें कि शारदा चिटफंड घोटाले में कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के बंगले पहुंची सीबीआई टीम के साथ जो हुआ वह शायद देश के इतिहास में कभी नहीं हुआ। नौबत यह आ गयी कि स्थानीय पुलिस व सीबीआई आमने सामने हो गए। दोनों जांच एजेंसियों के बीच हाथापाई व धक्का मुक्की भी हुई। बाद में कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के ड्राइवर व पांच अधिकारियों को हिरासत में ले लिया। 

bangal me CBI banam police vivad modi banam mamta me hua tabdeel
पश्चिम बंगाल में दो जांच एजेंसियों के बीच हुए बवाल की खास बात यह रही कि मामले में पुलिस के बचाव में ममता बनर्जी भी मैदान में आ गयी। इस पूरे घटना क्रम के बाद सीबीआई ने ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने के संकेत दिए है। कुछ घण्टों तक चले इस हाई प्रोफाइल ड्रामे के बाद हिरासत में लिए गए सीबीआई के अधिकारियों को छोड़ दिया गया। उधर सुरक्षा के दृष्टिकोण से सीबीआई आफिस के बाहर केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है। सीएम ममता बनर्जी ने केन्द्र की मोदी सरकार पर सीबीआई का दुरूपयोग करने का आरोप लगाते हुए धरना शुरू कर दिया है, जिसके बाद से पूरे राज्य के विभिन्न शहरों में टीएमसी कार्यकर्ताओं व ममता समर्थकों ने भी विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए है। एकाध स्थानों पर ट्रेने रोके जाने की बात भी सामने आयी है। 

bangal me CBI banam police vivad modi banam mamta me hua tabdeel

केजरीवाल ने मोदी व शाह को बताया देश के लिए खतरा

बंगाल के बवाल पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मोदी व शाह को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ये दोनों देश के लिए सबसे बड़ा खतरा है। केन्द्र की एनडीए सरकार लोकतंत्र और संघीय ढांचे से खिलवाड़ कर रही है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कुछ वर्ष पूर्व इसी तरह केन्द्रीय बल को भेज कर एंटी करप्शन की शाखा पर कब्जा किया गया था। उन्होंने घटना की निंदा करते हुए कहा कि देश संवैधानिक खतरे की ओर बढ रहा है। 

bangal me CBI banam police vivad modi banam mamta me hua tabdeel

कैलाश विजयवर्गीय बोले, बंगाल में नहीं बचा लोकतंत्र

वहीं, दूसरी ओर भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र खत्‍म होने की बात कहते हुए घटना की निंदा की। उनका कहना था कि जब सीबीआई उच्चतम न्यायालय के आदेश पर जांच कर रही है तो उसे अनुमति क्यों नहीं ​दी गयी है। 

bangal me CBI banam police vivad modi banam mamta me hua tabdeel

तो यह था पूरा मामला

कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार कुमार 1989 बैच के आईपीएस अफसर हैं। उनके नेतृत्व में ही एसआईटी ने शारदा घोटाले की जांच की थी। जांच से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण फाइलें व दस्तावेज गायब हैं। जांच एजेंसी को आशंका है कि ये दस्तावेज नष्ट किए जा सकते है। सीबीआई ने इसी सिलसिले में उन्हें तलब किया था, लेकिन वे नहीं पहुंचे। लंबे समय से शारदा चिटफंड व रोजवैली मामले की जांच कर रही सीबीआई की 40 सदस्यीय टीम रविवार उनके बंगले पर पहुंची थी, लेकिन स्थानीय पुलिस ने टीम को बंगले में घुसने नहीं दिया। 

bangal me CBI banam police vivad modi banam mamta me hua tabdeel

अब सीबीआई के पास हैं ये रास्ते

इस नाटकीय घटनाक्रम के बाद मचे बवाल में ममता बनर्जी ने मामले को केंद्र बनाम राज्य बना दिया है। इन हालातों में सीबीआई के पास न्यायिक हस्तक्षेप के अलावा कोई विकल्प नहीं है। कोर्ट के आदेश पर चल रही जांच को प्रभावित करना सीधे तौर पर कोर्ट की अवमानना का भी मामला बन सकता है। इसी तरह अगर राज्य सरकारों ने केन्द्रीय एजेंसी लोगों को गिरफ्तार करना शुरू कर दिया तो यह भविष्य के लिए बड़ा संकट तो बनेगा ही साथ संविधान के साथ भी खिलवाड़ होगा। 

यह भी पढ़े...चंदा कोचर व उनके पति समेत अन्य पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज

Web Title: bangal me CBI banam police vivad modi banam mamta me hua tabdeel ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया