फैशन ट्रेंड को अपनाने के लिए इस देश की महिलाएं अपने पैरों को तोड़कर देती थीं ऐसा आकार


SHOBHIT KUMAR 05/02/2019 15:08:57
111 Views

Lucknow. ये बात तो सभी जानते होंगे कि इंसान खुद को खूबसूरत और आकर्षक दिखाने के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाता है। चाहे वो महंगे से महंगे ब्यूटी प्रोडक्ट्स हो या आकर्षक कपड़े। लेकिन ये बात कोई नहीं जानता होगा कि यहां एक ऐसा भी देश है जहां की लड़कियां और महिलाएं अपनी खूबसूरती बढ़ाने के लिए अपने पैरों को तोड़ लेती थीं। जी हां अगर हम 10वीं सदी के फैशन की बात करें तो ये सच है कि उस दौर की महिलाओं ने फैशन के खतरनाक ट्रेंड को अपनाया था। इसको विस्तार से पढ़ने के बाद आपको भी विश्वास हो जाएगा कि उस दौर में महिलाएं इस ट्रेंड को अपनाने के लिए अपनी जान से खेल गई थीं।foot binding fashion trend 10th-century fashion in China
दरअसल, फुट बाइंडिंग चीन की एक फैशन की रीति थी जो 1,000 वर्षों पहले यानि कि 10वीं सदी से लेकर 20वीं सदी तक चली थी। इस फैशन ट्रेंड को इतिहास का सबसे खतरनाक फैशन ट्रेंड में से एक माना जाता है। घुमावदार पैर चीनी संस्कृति में सुंदरता का प्रतीक थे, लेकिन इस फैशन को अपनाने से कई चिकित्सा समस्याएं पैदा हुईं और कुछ हादसों में महिलाओं की मृत्यु भी हुई।foot binding fashion trend 10th-century fashion in China
ये प्रथा सम्राट ली यू के शासनकाल (970 ई) के दौरान शुरू हुई । दरअसल, सम्राट की पसंदीदा पत्नी (याओ-नियांग) ने अपने पैरों को चंद्रमा के आकार में बांधा और सम्राट के सामने कमल पर पैरों के अंगूठों के बल पर नृत्य किया। उनके इस नृत्य से सम्राट बहुत प्रभावित हुए। इसके बाद उनकी अन्य उप-पत्नियों ने भी सम्राट को प्रभावित करने के लिए याओ-नियांग की नकल करना शुरू कर दिया।foot binding fashion trend 10th-century fashion in China
इसके बाद ये एक मशहूर फैशन ट्रेंड बन गया और देखते ही देखते पूरे देश में फ़ैल गया। यह दर्दनाक प्रक्रिया आम तौर पर चार वर्ष की उम्र से नौ वर्ष में शुरू कर दी जाती थी। इस फैशन को अपनाने का केवल एक ही तरीका था, पैरों की हड्डियों को तोड़कर उन्हें आकार देना। foot binding fashion trend 10th-century fashion in China
इस प्रक्रिया के कारण तमाम बीमारियां पनपने लगीं जो बाद में मौत का कारण बनीं। इसके बाद चीन में फुट बाइंडिंग पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। लेकिन इसके बावजूद 1911 में कई महिलाओं और लड़कियों ने फिर भी अपने पैरों में बाइंडिंग कराई थी। वर्ष 1950 में, एंटी-फुट-बाइंडिंग इंस्पेक्टर अक्सर लोगों के घरों में महिलाओं के पैरों से जबरदस्ती बाइंडिंग हटाने के लिए आते थे।foot binding fashion trend 10th-century fashion in China
उनमें से कई महिलाओं को बाद में इस परंपरा अपनाने का पछतावा भी हुआ। चीन की एक बूढ़ी महिला झोउ गुइजेन, जो इस फैशन को अपनाने वाली आखिरी महिलाओं थी, ने एक साक्षात्कार में कहा कि, "मैं ठीक से नहीं चल सकती, मैं नृत्य नहीं कर सकती। मुझे इसका बहुत पछतावा है। लेकिन उस समय, अगर मैं पैरों को नहीं तोड़ती, तो मुझसे कोई शादी नहीं करता।"

यह भी पढ़ें... आकर्षक दिखने के लिए महंगे ब्यूटी प्रोडक्ट्स से ज्यादा मायने रखती हैं ये महत्पूर्ण बातें

Web Title: foot binding fashion trend 10th-century fashion in China ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया