मुख्य समाचार
पुलवामा हमले से गुस्साए भाजपा नेता ने कहा, चुनाव को रोक दो... अ​धिवक्ताओं ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि,कहा सरकार मुंहतोड़ दे जवाब.. पुलवामा हमले को लेकर छात्रों में गुस्सा किड्स प्रतियोगिता का किया गया आयोजन  बड़ी खबर: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कारोबारी रॉबर्ट वाड्रा को मिली राहत मौसम खराब रहने पर बिगड़ सकता है आम का स्वाद 22 जिलों के DM समेत 64 IAS, 11 IPS, 50 PPS के तबादले  WhatsApp कॉल को रिकॉर्ड करना हुआ आसान, देखें सही तरीका सिर्फ कागजों पर दिख रहा विकास, जनता परेशान भाजपा को बड़ा झटका देकर यह दिग्गज नेता कांग्रेस में हुआ शामिल पंजाब के नेता ने किया शहीदों का अपमान, कहा- ताली एक हाथ से नहीं बजती शहीद जवानों के बच्चों को लेकर सहवाग ने किया बड़ा ऐलान 40685 छात्रों ने छोड़ी परीक्षा, दबोचे गए 3 मुन्ना भाई डिनर के बाद करें बस यह एक काम, मोटापा रहेगा कोसों दूर गुर्जरों ने समाप्त किया आंदोलन, 9 दिन बाद खुले सड़क औऱ राजमार्ग  पुलवामा हमला: सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस ने फिर किया बड़ा ऐलान इंडोनेशिया में भूस्खलन से चार की मौत, पांच घायल Lbs की छात्राओं द्वारा स्वास्थ्य एवं स्वच्छता पर कार्यक्रम आयोजित किया गया सेल्फी केंद्र बना ये रेलवे ट्रैक, दूर-दूर से फोटो शूट करवाने आते हैं लोग युवाओं के लिए खुशखबरी: BHU में इन पदों पर निकली बम्पर भर्ती IILM एकेडमी में हुआ चार दिवसीय जील 2019 का आयोजन  ईडी की कार्रवाई के बाद पहली बार सामने आए वाड्रा ने दिया ये जवाब क्या है आईईडी विस्फोटक और कितने है घातक जनवरी में बढ़ा 3.74 प्रतिशत निर्यात, व्यापार घाटे में आई कमी शादी से पहले मलाइका-अर्जुन ने ढूंढ लिया अपना आशियाना, देखें खूबसूरत तस्वीर मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में बुरे फंसे नीतीश कुमार, होगी कार्रवाई! नम आंखों के साथ शहीद को अंतिम विदाई देने उमड़ा जन सैलाब एक्ट्रेस ने पंखे से लटककर की सुसाइड, ब्वॉयफ्रेंड को ठहराया मौत का जिम्मेदार सोनम के अहूजा से जोया सिंह सोलंकी बन गईं सोनम कपूर निराला ने कठिन परिस्थितियों में भी नहीं त्यागा था सिद्धांत Pulwama Attack: नवजोत सिंह सिद्धू के बयान से जनता का फूटा गुस्सा, शो से बाहर करने की मांग विश्वकप से पहले इन 18 खिलाड़ियों के नामों पर लगी मुहर मुझे नारी होने पर गर्व है: रेड ब्रिगेड पुलवामा हमले से जुड़े होने की आशंका में सात संदिग्ध गिरफ्तार ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा पर कसा शिकंजा, 4.62 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क तिरंगे में लिपटा पहुंचा जिले का लाल तो हर आंख छलक पड़ी ...तो क्या सपा-बसपा गठबंधन यूपी में कर देगा BJP का सूपड़ा साफ? Pulwama Terror Attack: शहीदों के सम्मान में विराट का बड़ा फैसला, पुरस्कार समारोह किया रद्द तो आरडीएक्स नहीं अमोनियम नाइट्रेट से किया गया विस्फोट
 

लखनऊ के डा. जाकिर अली 'रजनीश' को भारत सरकार करेगी पुरस्कृत


RAJNISH KUMAR 08/02/2019 16:04:02
79 Views

Lucknow. बच्चों में वैज्ञानिक अभिरूचि पैदा करने के लिए दिए जाने वाले राष्ट्रीय विज्ञान संचार पुरस्कार के लिए लखनऊ के जाने माने लेखक व साइंटिफिक वर्ल्ड के संपादक डा. जाकिर अली 'रजनीश' का नाम भारत सरकार ने चुना है। उन्हें इस पुरस्कार के रूप में स्मृति चिन्ह, प्रशस्ति पत्र के साथ साथ दो लाख रुपए की नगद धनराशि प्रदान की जाएगी। 

dr zakir ali rajnish ko sarkar karegi puraskrit

बच्चों में विज्ञान को लोकप्रिय बनाने के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित होने वाले डा. जाकिर देश के जाने माने रचनाकार हैं। वह अपनी विज्ञान कथाओं के लिए विशेष रूप से जाने जाते हैं। वह बीते दो दशकों से बच्चों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने वाला साहित्य सृजन कर रहे हैं। अब तक उनकी आधा सैकड़ा से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। इसके साथ ही वह देश की एकमात्र आई.एस.एस.एन. नंबर प्राप्त हिन्दी की लोकप्रिय ब्लाग पत्रिका 'साइंटिफिक वर्ल्ड' के सम्पादक हैं। इसके अलावा वह 'साइंस ब्लागर्स एसोसिएशन,' 'सर्प संसाद' व 'टेकगेप' नामक ब्लाक पत्रिकाओं के माध्यम से भी विज्ञान संचार की अलख जगा रहे हैं। 

गौरतलब हो कि डा. रजनीश 'तस्लीम'(टीम फार साइंटिफिक अवेयनेस आन लोकल इश्यूज इन इंडियन मासेस) संस्था के महासचिव भी हैं। यह संस्था विज्ञान संचार संबंधी सम्मेलन, गोष्ठी और कार्यशालाओं काआयोजन करती रहती है, जिनमें डा. रजनीश की महती भूमिका होती है। इस संस्था के आयोजनों से अब हजारों की संख्या में बच्चे लाभांवित हो चुके हैं। डा. रजनीश के लिए यह कोई पहला मौका नहीं है, जब उन्हें किसी पुरस्कार से नवाजा जा रहा हो। इससे पहले भी उन्हें उनके कार्यों व योगदान के लिए बाब्स अवार्ड (जर्मनी), कथा महोत्सव पुरस्कार, शारजाह (यू.ए.ई.) समेत तीन दर्जन से अधिक पुरस्कार व सम्मान मिल चुके हैं। 

dr zakir ali rajnish ko sarkar karegi puraskrit

  6 श्रेणियों में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग देता है पुरस्कार

बता दें कि भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से प्रतिवर्ष इस क्षेत्र में प्रशंसनीय कार्य करने वाले व्यक्तियों अथवा संस्थाओं को 6 श्रेणियों में पुरस्कृत किया जाता है। प्रथम श्रेणी में पांच लाख का पुरस्कार दिया जाता है। जबकि शेष पांच श्रेणियों में प्रिंट मीडिया, बच्चों में विज्ञान लोकप्रियकरण, अनुवाद, परम्परागत माध्यम और इलेक्ट्रानिक मीडिया को दो-दो लाख रुपए के पुरस्कार दिए जाते हैं। इन पुरस्कारों का वितरण प्रतिवर्ष 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर किया जाता है।

  इन्हें मिलेगा पुरस्कार

वर्ष 2018 के इन पुरस्कारों के लिए प्रिंट मीडिया के लिए मणिपुर के हुद्रम बीरकुमार सिंह, असम के मनींद्र कुमार मजूमदार, उड़ीसा की प्रोफेसर मानसी गोस्वामी को, बच्चों में विज्ञान लोकप्रियकरण के लिए आंध्र प्रदेश की रूरल एग्रीकल्चरल डेवलपमेंट सोसायटी, उत्तर प्रदेश के डा. राजकुमार व डा. जाकिर अली 'रजनीश' को पुरस्कृत किया जाएगा। अनुवाद की श्रेणी में प्रोफेसर मनीष रत्नाकर जोशी, परम्परागत माध्यम के लिए उत्तराखण्ड के डा. बृजमोहन शर्मा, राजस्थान की डा. सुनीता झाला, इलेक्ट्रानिक मिडिया के लिए असम के डा. अंकुरन दत्ता को सम्मानित किया जाएगा। इन सभी को दो दो लाख रुपए धनराशि के पुरस्कार दिए जाएंगे। खास बात यह है कि इस वर्ष मुख्य श्रेणी पुरस्कार के लिए किसी का चयन नहीं किया गया है।

वीडियो देखें हिन्दी में -   Lucknow Samachar Video

 

Web Title: dr zakir ali rajnish ko sarkar karegi puraskrit ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया