मायावती ने दी हिदायत, कहा- कोर्ट के फैसले पर कटी पतंग न बने बीजेपी और...


NAZO ALI SHEIKH 10/02/2019 10:20 AM
126 Views

Lucknow. एक तरफ लोकसभा चुनाव को लेकर राजनैतिक सरगर्मी सातवें आसमान पर पहुंच गई है। वहीं, दूसरी ओर बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा अपनी सरकार के समय बनवाए मूर्तियों पर जो भी रुपए खर्च किए हैं, उनको सरकारी खजाने में लौटाने का आदेश दिया है। फिलहाल जो भी हो बसपा सुप्रीमो ने कोर्ट के हर फैसले का सम्मान करने की बात कहते हुए लोगों का दिल जीत लिया है। उन्होंने कहा कि उनको न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। न्याय जरूर मिलेगा। वह माननीय न्यायालय के सामने आगे भी पक्ष मजबूती से रखेंगी। इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो ने बीजेपी और मीडिया को हिदायत देते हुए कहा कि वह बीच में कटी पतंग बनने का काम नहीं करे। मीडिया को तोड़ मरोड़कर कोर्ट के आदशों को पेश नहीं करना चाहिए। 

यह भी पढ़ें... काफी क्यूट है स्मृति ईरानी की बेटी का ये अंदाज़

Mayawati ne di hidayat, cort ke faisle par kati patang na bane bjp

  कोर्ट का आदेश

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि मायावती ने बसपा के संस्थापक कांशीराम व खुद की मूर्तियों को बनवाने में जो रुपए खर्च किए थे, उसे सरकारी खजाने में वापस जमा करें। वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बसपा सुप्रीमो के शासनकाल में मूर्तियों पर अनुमानित राशि 59 करोड़ रुपए खर्च किया गया। खुद की मूर्तियों पर 3 करोड़ 49 लाख रुपये, कांशीराम की मूर्तियों को बनवाने में 3 करोड़ 77 लाख, और बसपा के चुनाव चिह्न हाथी की मूर्तियों को बनवाने में 52 करोड़ खर्च किया गया था। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने सुनवाई करते हुए कहा कि वकील अपनी मुवक्किल को यह बता दें कि मूर्तियों पर खर्च किए रुपए को सरकारी खजाने में जमा करें।

यह भी पढ़ें...  जन्मदिन के काफी दिनों बाद सामने आया उर्मिला का ये विडियो

Mayawati ne di hidayat, cort ke faisle par kati patang na bane bjp

  2 अप्रैल को सुनवाई

बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने 2 अप्रैल को सुनवाई की तिथि निर्धारित की है। जबकि बसपा सुप्रीमो की ओर से सतीश मिश्रा ने कहा था कि सुनवाई मई के बाद हो। लेकिन कोर्ट ने इंकार कर दिया। हालांकि, चीफ जस्टिस रंजन गोगोई वाली बेंच ने यह बात भी स्पष्ट किया था के अभी इस मामले पर कोई अंतिम आदेश नहीं है। यह एक विचार है। दूसरी ओर कोर्ट के इस आदेश पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी अभी तक कोई प्रतिक्रया नहीं दी है। अखिलेश ने कहा कि अभी सुप्रीम कोर्ट का आदेश पूरा नहीं पढ़ा है। बसपा के वकील इस मसले को अपनी तरीके से हल करेंगे।  

Web Title: Mayawati ne di hidayat, cort ke faisle par kati patang na bane bjp ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया