मुख्य समाचार
राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण है अयोध्या आने का मकसद: उद्धव ठाकरे सीतापुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो युवकों की मौत न्यूजीलैंड में आया 7.2 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराकर FIH सीरीज़ का फाइनल जीता Air India में नौकरी का सुनहरा मौका, नहीं देनी होगी लिखित परीक्षा इस दिन जारी होंगे UP Polytechnic के परीक्षा परिणाम पति करता था परेशान, पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर उठाया खौफनाक कदम पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसार एक्सप्रेस वे पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत पाकिस्तान ने दी पुलवामा में संभावित आतंकी हमले सूचना, घाटी में हाई अलर्ट भारत-पाक महामुकाबले पर बारिश का खतरा बरकरार मिस इंडिया 2019: सुमन राव ने जीता खिताब, शिवानी रहीं फर्स्ट रनर अप रेल यात्रियों को सफर में मसाज सेवा देने की योजना पर लगा ग्रहण, जानिए क्या रही वजह पीएम मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक आज, ममता और केसीआर नहीं होंगे शामिल एनडी टीवी के खास प्रमोटरों पर सेबी ने लगाई रोक, लगा इतने साल का प्रतिबंध एयरपोर्ट पर चंद्रबाबू नायडू की ली गई तलाशी, टीडीपी ने बदले की राजनीति का लगाया आरोप यूपी को डिजिटल उत्तर प्रदेश बनाने के लिए व्यापक और मजबूत दूरसंचार नेटवर्क की आवश्यकता : उप मुख्यमंत्री बल्लेबाजी डॉट कॉम के ब्रांड एम्बेसडर बने युवराज राज्यपाल ने केन्द्रीय गृह मंत्री से भेंट की सड़क सुरक्षा समिति की बैठक : बसों में अग्निशमन यन्त्र लगाने के निर्देश बसपा सांसद के घर कुर्की का आदेश हुआ चस्पा दान के सिक्कों को लेकर परेशानी में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट, जानिए क्या है वजह मीसा भारती ने चुनाव में हार का लिया ऐसे बदला संभावित आतंकी हमले को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट स्कूल चलो अभियान में सभी बच्चों को नजदीकी स्कूलों में शत-प्रतिशत नामांकन कराये जाने के निर्देश पाकिस्तान से वीडियो कॉल कर युवक ने कहा- भाईजान बम कहां रखना है और फिर...
 

कभी थानेदार तो कभी सिपाही बन लोगों को ठग रहे टप्पेबाज


DEEP KRISHAN SHUKLA 10/02/2019 15:37:32
122 Views

Lucknow. टप्पेबाजों ने लोगों को अपना शिकार बनाने की नई तरकीब निकाली है। स्वयं को दारोगा व सिपाही बता कर ये ठग लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं। राजधानी के जानकीपुरम, इंदिरानगर व आशियाना में सक्रिय इन टप्पेबाजों ने हालिया घटनाओं को अंजाम दिया है। टप्पेबाजों के शिकार हुए लोगों ने पुलिस में शिकायत की है जिसके बाद से पुलिस उन्हें तलाश रही है। 

kabhi thanedar to kabhi sipahi ban kar logo ko thag rahe tappebaaj
गुड़ियनपुरवा निवासी शिवानी हरचंदपुर के रहने वाले रोहित श्रीवास्तव के साथ रात तकरीबन डेढ़ बजे लौट रहीं थीं। इंजीनियरिंग कॉलेज के पास गाड़ी पर सवार एक शख्स ने उन्हें रोकते हुए स्वयं को जानकीपुरम थाने का थानेदार बताया। उसने उनका मोबाइल चेक करने को मांगा, जिस पर शिवानी व रोहित ने अपने मोबाइल फोन उसे दे दिए। बाद में उसने आधार कार्ड मांगे, जो मौके पर उन लोगों के पास मौजूद नहीं थे। खुद को थानेदार बताने वाला शख्स उनके मोबाइल लेकर चलता बना। शिवानी की शिकायत के बाद अब पुलिस बताए गए घटना स्थल के आसपास की सीसीटीवी फुटेज में ठग की तलाश कर रही है। 

kabhi thanedar to kabhi sipahi ban kar logo ko thag rahe tappebaaj
इसी तरह की एक घटना एल्डिको उद्यान प्रथम में हुई। यहां के मकान नंबर 684 में सेवानिवृत्त कर्मचारी प्रकाश मोहन पत्नी मधू शनिवार सुबह टेलर की दुकान से घर लौट रही थीं। रास्ते में त्यागी विहार कॉलोनी के पास उन्हें दो लोग मिले, जिन्होंने स्वयं को पुलिस वाला बताते हुए महिला के चार सोने के कंगन व मंगलसूत्र कागज में लपेटकर रखने को कहा। महिला ने ऐसा ही किया, लेकिन ठगों ने मौका देख कर कागज बदल दिया। महिला ने जब जेवर वाला कागज खोला तो उसमें कांच की चूड़िया निकली, लेकिन तब तक टप्पेबाज रफूचक्कर हो चुके थे। 

kabhi thanedar to kabhi sipahi ban kar logo ko thag rahe tappebaaj

एक अन्य घटना गाजीपुर थाना क्षेत्र की है। मूलरूप से जालौन के शाहजादपुरा निवासी राम प्रकाश गौतम का परिवार इंदिरानगर के सेक्टर-आठ के पटेलनगर में रहता है। पत्नी लक्ष्मी देवी रिक्शे से बीती 5 फरवरी की दोपहर घर लौट रहीं थीं। रास्ते में बाइक सवार बदमाशों ने खुद को पुलिस कर्मी बताया और उचक्कों का हवाला देते हुए जेवर उतारकर पर्स में रखने को कहा। लक्ष्मी के जेवर उतारते ही टप्पेबाजों ने उससे जेवर लेकर कागज में लपेटे और पुड़िया उसे थमा दी। घर पहुंचने पर जब लक्ष्मी ने पुड़िया खोली तो जेवर गायब देख वह सन्न रह गयी। 

इन सभी मामलों में पुलिस ठगों की तलाश में पीड़ितों द्वारा बताए गए घटनास्थलों के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज तलाश रही है। फिलहाल अभी तक कोई ठग पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ रहा है। टप्पेबाजों की यह नहीं तरकीब उनके लिए जितनी कारगर साबित हो रही पुलिस के लिए उतनी ही सिर दर्द बन रही है। यही आलम रहा तो ऐसा भी समय आ सकता है कि लोग पहले पुलिस वालों से उनका परिचय पत्र न मांगने लगे।

यह भी पढ़े...छिलका सहित सेब खाने से शरीर को मिलेंगे ये 5 बड़े फायदे

Web Title: kabhi thanedar to kabhi sipahi ban kar logo ko thag rahe tappebaaj ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया