मुख्य समाचार
 

चीन का आरोप, तनाव भड़काने का प्रयास कर रहा अमेरिका


DEEP KRISHAN SHUKLA 12/02/2019 11:14:51
121 Views

New Delhi. चीन और अमेरिका के बीच आपसी गतिरोध कम होने का नाम नहीं ले रहा है। अब चीन ने अमेरिका पर तनाव भड़काने का आरोप लगाया है। चीन का कहना है कि अमेरिका ने विवादित दक्षिण चीन सागर द्वीप के पास अमेरिका ने अपना विध्वंसक मिसाइल भेज कर यह प्रयास किया है। 

china ka aarop, tanav bhadkane ka prayas kar raha america
अपनी सैन्य ताकतों में लगातार ​इजाफा कर रहा चीन अपने वैश्विक व्यापार को बढ़ाने का लगातार प्रयास भी कर रहा है। दरअसल, दक्षिण चीन सागर में अपना एकाधिकार स्थापित करने की चाह रखने वाला चीन किसी का भी दखल इस क्षेत्र में नहीं चाहता है। चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनइंग ने कहा कि उनके बीजिंग के दावे वाले स्पार्टली द्वीप के पास अमेरिका ने विध्वंसक मिसाइलों से लैस 2 युद्धपोत गुजारते हुए इसे नौवहन अभियान की आजादी बताया था। प्रवक्ता ने अमेरिका की इस गतिविधि को दक्षिण चीन सागर में तनाव व अशांति पैदा करने वाला बताया। खास बात यह है कि अमेरिका के दो युद्धपोत यूएसएस स्प्रुआंस और यूएसएस प्रेबल चीनी प्रभाव वाले स्पार्टली द्वीप के पास से तब गुजारे गए है जब इस सप्ताह चीन और अमेरिका के बीच दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार को लेकर चल रही रस्साकशी को रोकने को लेकर महत्वपूर्ण बैठक होनी है।  

china ka aarop, tanav bhadkane ka prayas kar raha america
 यह है पूरा मामला

समूचे दक्षिण चीन सागर में एकाधिकार रखने की चाह में चीन इस समूचे क्षेत्र अपना दावा करता है। वहीं उसके पड़ोसी देश ताईवान, फिलीपीन्स, ब्रुनेई, मलेशिया और वियतनाम भी इस समुद्री क्षेत्र पर अपना अपना अधिकार होने का दावा करते हैं। जिसे देखते हुए अमेरिका और उसके सहयोगी देश दक्षिण चीन सागर के द्वीपों के निकट से अपने युद्धपोत और विमान गुजारते रहते हैं। 

यह भी पढ़े...सर्वाधिक वजन ढोने वाले चिनूक हेलीकॉप्टर से बढ़ेगी भारत की सैन्य ताकत

Web Title: china ka aarop, tanav bhadkane ka prayas kar raha america ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया