मुख्य समाचार
 

पुरूषों की समलैंगिकता के कारणों पर शोध करेगा केजीएमयू


DEEP KRISHAN SHUKLA 12/02/2019 12:11:38
140 Views

Lucknow. केजीएमयू के विशेषज्ञों की टीम पुरूषों के समलैंगिक होने के कारणों का पता लगाने के लिए शोध करेगी। इसके लिए कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग की टीम का गठन भी हो गया है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में टीम अलग अलग अध्ययन कर यह पता लगाने का प्रयास करेगी कि आखिर कौन सी ऐसी वजह है जो पुरूषों को गे बनने पर विवश करती है। 

KGMU shodh kar pata lagayega purushon ki samlaingikta ke karan

इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च ने नेशनल एड्स रिसर्च इंस्टिट्यूट को पुरूषों के समलैंगिक बनने के कारणों का पता लगाने के निर्देश दिए थे, जिस पर एनएआरआई ने किंग जार्ज मेडिकल यूनीवर्सिटी के कम्यूनिटी मेडिसिन डिपार्टमेंट को इस विषय पर शोध करने की​ जिम्मेदारी सौंपी है। कम्यूनिटी विभाग के डॉ. शिवेन्द्र कुमार सिंह के नेतृत्व में स्कालरों की टीम गठित कर दी है। इस रिसर्च का निर्देशन हेड आफ डिपार्टमेंट प्रो. उदय मोहन करेंगे। यह टीम उन कारणों का पता लगाने की कोशिश करेगी, जिनके चलते लोग समलैंगिकता का चुनाव करते हैं। वह कौन से ऐसे कारण हैं जो उन्हें इसके लिए मजबूर करते हैं। इस मसले पर पर टीम शोध करेगी। यह शोध दो स्तरों पर किया जाएगा, जिसमें शहरी व ग्रामीण परिवेश का अलग-अलग शोध होगा। शहरी क्षेत्र के अध्ययन के लिए लखनऊ को चुना गया है, जबकि ग्रामीण परिवेश का अध्ययन बाराबंकी में किया जाएगा। बता दें कि हमारे देश में पहले समलैंगिकता अपराध की श्रेणी में आती थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने कुछ समय पहले समलैंगिकता वैध कर दिया था। 

KGMU shodh kar pata lagayega purushon ki samlaingikta ke karan
शोध का निर्देशन करने वाले कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के हेड प्रो. उदय मोहन ने बताया कि हमारी टीम इस रिसर्च पर 5 से 6 महीने तक हर पहलू पर काम करेगी। शोध पूरा होने के बाद अपनी रिपोर्ट नेशनल एड्स रिसर्च इंस्टीट्यूट को सौंप देगी। उनका मानना है कि यह अध्ययन समाजिक बदलाव ला सकती है। इसके जरिए हुए कम्यूनिटी के लोगों को मुख्यधारा से जोड़ने में भी मददगार साबित हो सकती है। 

यह भी पढ़े...ई-पेमेंट के मामले में उत्तर के राज्यों ने दक्षिण को पछाड़ा

Web Title: KGMU shodh kar pata lagayega purushon ki samlaingikta ke karan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया