मुख्य समाचार
पीएम मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक आज, ममता और केसीआर नहीं होंगे शामिल एनडी टीवी के खास प्रमोटरों पर सेबी ने लगाई रोक, लगा इतने साल का प्रतिबंध एयरपोर्ट पर चंद्रबाबू नायडू की ली गई तलाशी, टीडीपी ने बदले की राजनीति का लगाया आरोप यूपी को डिजिटल उत्तर प्रदेश बनाने के लिए व्यापक और मजबूत दूरसंचार नेटवर्क की आवश्यकता : उप मुख्यमंत्री बल्लेबाजी डॉट कॉम के ब्रांड एम्बेसडर बने युवराज राज्यपाल ने केन्द्रीय गृह मंत्री से भेंट की सड़क सुरक्षा समिति की बैठक : बसों में अग्निशमन यन्त्र लगाने के निर्देश बसपा सांसद के घर कुर्की का आदेश हुआ चस्पा दान के सिक्कों को लेकर परेशानी में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट, जानिए क्या है वजह मीसा भारती ने चुनाव में हार का लिया ऐसे बदला संभावित आतंकी हमले को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट स्कूल चलो अभियान में सभी बच्चों को नजदीकी स्कूलों में शत-प्रतिशत नामांकन कराये जाने के निर्देश पाकिस्तान से वीडियो कॉल कर युवक ने कहा- भाईजान बम कहां रखना है और फिर...
 

भारत के साथ सारे देशों में भी लागू होगी यूआईएन की व्यवस्था


DEEP KRISHAN SHUKLA 18/02/2019 15:51:11
74 Views

New Delhi. चार्टर्ड अकाउंटेंट के प्रमाणपत्रों का फर्जीवाड़ा रोकने के लिए इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकाउंटेंट आफ इंडिया के द्वारा की गयी यूनीक डाक्यूमेंट आइडेंटिफिकेशन नंबर व्यवस्था पर सात पड़ोसी देश भी सहमत हो गए हैं। 

Bhart ke saath SAFA deshon me bhi lagu hogi UDIN ki vyavastha
मालूम हो कि चार्टर्ड अकाउंटेंट के प्रमाणपत्रों का फर्जीवाड़ा बड़े पैमाने पर हो रहा था। नोटबंदी और जीएसटी लागू होने के बाद इन प्रमाणपत्रों की अहमियत और अधिक बढ़ गयी है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकाउंटेंट आफ इंडिया इस फर्जीवाड़े पर अंकुश लगाने के प्रति गंभीरता से विचार कर रहा था। 

Bhart ke saath SAFA deshon me bhi lagu hogi UDIN ki vyavastha
बीती 1 फरवरी को आईसीएआई ने यह व्यवस्था लागू की थी कि उनकी वेवसाइट से प्रमाणपत्र जारी करते समय आधार की तर्ज पर एक यूनिक डॉक्यूमेंट आईडेंटिफिकेशन नंबर जनरेट होगा।


यह नबंर प्रमाणपत्र पर भी दर्ज किया जाएगा। जिससे प्रमाणपत्र का फर्जीवाड़ा नहीं हो सकेगा क्योंकि वेबसाइट पर जाकर कोई भी इस यूआईएन से प्रमाणपत्र धारक की जानकारी कर सकता है। 

Bhart ke saath SAFA deshon me bhi lagu hogi UDIN ki vyavastha
भारत में इस यूडीआईएन के प्रयोग की सफलता को देखते हुए 'साफा' बोर्ड के सदस्य देशों की संस्थाओं ने यूआईएन लागू करने के लिए टास्क फोर्स बनाने का निर्णय लिया है। 


बता दें कि 'साफा' भारत के साथ उन सात पड़ोसी देशों का समूह है जिसे इन सभी देशों के अकाउंटेंट्स ने मिलकर गठित किया है। 


इस बोर्ड का पूरा नाम साउथ एशियन फेडरेशन आफ अकाउंटेंट्स है जिसमें भारत, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, पाकिस्तान, भूटान, नेपाल, श्रीलंका और मालदीव सामिल हैं। 

यह भी पढ़े...मोदी सरकार के इन फैसलों ने किया पाकिस्तान की नाक में दम

Web Title: Bhart ke saath SAFA deshon me bhi lagu hogi UDIN ki vyavastha ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया