मुख्य समाचार
अमेठी: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धूम-धाम से मनाया राहुल गांधी का जन्मदिन एरिया कमांडर समेत 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण हाईवे किनारे जड़ी बूटियां उगाकर यूपी सरकार सुधारेगी लोगों का स्वास्थ्य  लखनऊ: सीएम योगी ने लेखपालों को बांटे लैपटॉप लखनऊ में गर्मी का कहर, राज्य में 23 जून तक नहीं चलेंगे स्कूल अर्जुन पटियाला का पोस्टर्स हुआ रिलीज,फिल्म मे दिलजीत-कृति मुख्य भूमिका में पहली बार सांसद बने सनी देओल से हुई बड़ी चूक, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता  सीवर सफाई करने चैंबर में उतरे दो कर्मचारी गैस से अचेत होकर डूबें, मौत नेहा धूपिया के चैट शो में पहुंची परिणीति चोपड़ा और सानिया मिर्जा गरीब मजदूर की मजदूरी नहीं दिला पा रही मलिहाबाद पुलिस इयोन मोर्गन ने तोड़ डाला छक्कों का सबसे बड़ा रिकॉर्ड, एक पारी में लगा दिए इतने छक्के संभल में भीषण सड़क हादसा, दो बच्चों समेत आठ की मौत सपा सांसद ने नहीं लगाया वंदे मातरम का नारा तो अखिलेश ने कह दी चौंकाने वाली बात मोदी सरकार ने किये ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में संशोधन, जानिए क्या है नियम? परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक धर्मांतरण के विरोध में विहिप ने डीएम को सौंपा ज्ञापन महिला अपनी ताकत को पहचाने और समाज को यह संदेश दें कि नारी अबला नहीं अब सबला है : अनुपमा जायसवाल याचिका दायर कर पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को बैन करने की मांग दलित हत्या मामले बहन जी के करीबी नेता को अखिलेश ने सौंपी अहम जिम्मेदारी प्रत्येक विकास खण्ड की दो पंचायतों को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जाय
 

बसपा से यूं ही नहीं खफा हुए मुलायम, यह कारण कर चुके हैं...


GAURAV SHUKLA 22/02/2019 16:33:56
82 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के गुरुवार को राजधानी स्थित पार्टी कार्यालय में पहुंचने के दौरान तल्ख तेवर देखने को मिले। बता दें कि मुलायम के यह तेवर यूं ही तल्ख नहीं थे। दरअसल, लोकसभा चुनाव 2014 से लेकर विधानसभा चुनाव 2017 तक यूपी में सपा की स्थिति बसपा से काफी बेहतर रही है। यह बेहतर स्थिति वोट प्रतिशत से लेकर जीत तक देखी गयी है। सभी जगहों पर सपा का दमखम बसपा से ज्यादा ही रहा है। 

baspa se yu hi ni kafa hue hai mulayam singh yadav

क्या कहते हैं आंकड़े 

बता दें कि कांग्रेस के साथ गठबंधन के बाद विधानसभा चुनाव में सपा ने 311 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें वह 47 प्रत्याशियों  को जीत दिलाने में कामयाब हुई थी। जबकि 403 सीटों पर चुनाव लड़वाने के बाद भी बसपा सिर्फ 19 विधायकों को ही जीत दिलाने में कामयाब हुई थी।

इन आंकड़ों के बाद सपा संरक्षक मुलायम सिंह का दर्द छलकना लाजमी है।

वहीं 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा लहर होने के बावजूद सपा के पांच सांसद चुनकर लोकसभा में पहुंचे। वहीं सपा ने कुल वोट का 22.35 फीसदी वोट भी हासिल किए।

इस चुनाव में बसपा को एक भी सीट नहीं मिली। हालांकि बसपा को मिला 19.77 फीसदी वोट भी सपा के सापेक्ष कम था। 

Web Title: baspa se yu hi ni kafa hue hai mulayam singh yadav ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया