मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल बच्चों में गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार भी जरूरी : ब्रजेश पाठक  रवि किशन ने राहुल को दी नसीहत, सीरियस नहीं हुए तो राजनीति से करियर खत्म योगी सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी नहीं असरदार कार्य कर रही है : उप मुख्यमंत्री जय श्रीराम न बोलने पर बागपत में मौलाना की पिटाई सावन की पूर्णिमा व अमावस्या पर होगी भव्य गंगा आरती पहले दूसरे जाति की लड़की से की शादी, फिर बेइज्जती के डर से पत्‍नी की करवा दी हत्या
 

डॉ. बल्लभभाई कथिरिया बने राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के चेयरमैन


RAJNISH KUMAR 24/02/2019 18:09:57
564 Views

Lucknow. गायों के संरक्षण और संवर्धन के माध्यम से देश के ग्रामीण सुदृढ़ता, सामाजिक और आर्थिक विकास की प्रतिबद्धता के लिए भारत सरकार ने पशुपालन और डेयरी विभाग, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के तहत “राष्ट्रीय कामधेनु अयोग” की स्थापना की है। गुजरात गौ सेवा एवं गोचर विकास बोर्ड के पूर्व चेयरमैन डॉ. वल्लभभाई कथिरिया को अयोग का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। संसद में बजट पेश करने के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में गाय और उसकी संतति संवर्धन के लिए “राष्ट्रीय कामधेनु अयोग” स्थापित करने की घोषणा की थी।

DR VALLABHBHAI KATHIRIA APPOINTED AS CHAIRMAN OF NEWLY ESTABLISHED RASHTRIYA KAMADHENU AYOG

पहली फरवरी को लोकसभा में पेश किए गए अंतरिम बजट में गायों के लिए एक योजना स्थापित करने का प्रस्ताव रखा गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह कहा कि सरकार गायों की संवर्धन एवं विकास के लिए जो वादा किया था वह पूरा करने के लिए गाय के स्थायी आनुवंशिक उन्नयन में सुधार के लिए “राष्ट्रीय कामधेनु आयोग” की शीघ्र ही स्थापना करेंगे। यह आयोग और संरक्षण, संवर्धन के साथ साथ आवश्यक संसाधनों को उपलब्ध कराने और गायों के उत्पादकता को बढ़ाने के लिए कार्य करेगा। 

आयोग गायों के लिए कानूनी व्यवस्था और कल्याणकारी योजनाओं के कार्यान्वयन का भी कार्य करेगा। केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल अपने बजट भाषण के दौरान यह घोषणा किया था कि गौ संवर्धन के लिए 750 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है। केंद्र सरकार की ओर से 21 फरवरी, 2019 को जारी किए गए आदेश के अनुसार, गुजरात के गौसेवा और गौचर विकास बोर्ड के पूर्व चेयरमैन डॉ. वल्लभभाई कथिरिया अयोग के चेयरमैन होंगे।

केंद्र सरकार के आदेश के अनुसार, पशुपालन और डेयरी सचिव राष्ट्रीय कामधेनु अयोग के उपाध्यक्ष का कार्य करेंगे। साथ ही विभिन्न क्षेत्रों के अन्य गौ संवर्धन और संरक्षण विशेषज्ञ सदस्यों को भी नियुक्त किया किया गया है। केंद्र सरकार के पशुपालन और डेयरी विभाग के संयुक्त सचिव को आयोग का सदस्य–सचिव नियुक्त किया गया है।

बता दें कि डॉ.काथिरिया सौराष्ट्र में एक प्रसिद्ध कैंसर सर्जन हैं। वह बचपन से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता रहे हैं और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) में विभिन्न पदों पर सेवाएं दी है और सभी संगठनों में उनका कार्य उत्तम रहा है। 

उनके उल्लेखनीय योगदान में चाहे 126 बार रक्तदान के अनुपम सेवाओं की बात करें या आम आदमी से लेकर ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले बेसहारा मजदूर या सुदूर गांव में बसने वाले गरीब और कमजोर तबके के लोगों के प्राण रक्षा के लिए रक्त दान की है। 

DR VALLABHBHAI KATHIRIA APPOINTED AS CHAIRMAN OF NEWLY ESTABLISHED RASHTRIYA KAMADHENU AYOG

डॉ. कथिरिया हमेशा साफ-सुथरी, निष्पक्ष एवं निर्भीक छवि के राजनेता और सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में जाने जाते हैं। अपने उत्कृष्ट सेवाओं के माध्यम से 100 से अधिक गैर सरकारी प्रतिष्ठानों और सामाजिक संगठनों के साथ सेवारत रहे हैं। 

डॉ. कथरिया ने हमेशा शिक्षा, स्वास्थ्य, सामाजिक उत्थान के लिए संघर्षशील रहे हैं। डॉ. कथिरिया ने बड़े संघर्षों के साथ वाटर हार्वेस्टिंग , पर्यावरण संरक्षण, ग्रामीण विकास और गौसेवा के क्षेत्र में कई उपलब्धियां हासिल की है। 

वीडियो देखें हिन्दी में -  Lucknow Samachar Video

वर्ष 2001 में आए गुजरात के विनाशकारी भूकंप पीड़ितों की सुरक्षा, राहत प्रबंधन, पुनर्वास और समन्वय के लिए आज भी लोग याद करते हैं। 

डॉ. कथिरिया गुजरात के राजकोट से 4 बार सांसद रहे हैं। डॉ. कथिरिया अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मानव संसाधन और स्वास्थ्य मंत्री भी रह चुके हैं। 

Web Title: DR VALLABHBHAI KATHIRIA APPOINTED AS CHAIRMAN OF NEWLY ESTABLISHED RASHTRIYA KAMADHENU AYOG ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया