मुख्य समाचार
कर्मचारियों की लापरवाही से आचार संहिता का उल्लंघन जारी रासायनिक हमलों के दौरान 24 घण्टे तक सैनिकों की रक्षा करेगा एबीसी सूट सावधान: चाय पीने से हो सकता है कैंसर  छपाक का फर्स्ट लुक जारी, दीपिका पादुकोण का ऐसा रूप कभी नहीं देखा होगा आपने आरजेडी का कांग्रेस को बड़ा झटका, दिग्गज कांग्रेसी की सीट पर उतारा अपना उम्मीदवार चुनाव ड्यूटी को सजा न समझें, बल्कि चुनौती समझकर कार्य करें बड़ी खबर : मॉर्निंग वॉक पर निकले बसपा नेता की हत्या पाकिस्तान की फायरिंग में एक जवान शहीद, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब #IPL2019 : BCCI ने IPL उद्घाटन समारोह की राशि सैन्य बलों को दी भारतीय नौसेना ने मोजाम्बिक में 192 लोगों की बचाई जान इनटू लीगल वर्ल्ड की पहली वर्षगांठ सम्पन्न लोकसभा चुनाव: हेमा के खिलाफ उतरीं डांसर सपना तो ये होंगे नतीजे, मथुरा सीट में होगा... सच बोल रहे थे लालू के बेटे तेजप्रताप, सही साबित हुए ऐश्वर्या के खिलाफ आरोप! #IPL2019 : IPL में एंट्री करते ही रैना ने रचा इतिहास #IPL2019 : ओपनिंग मैच गंवाकर कोहली ने कहा, हम वापसी करेंगे मायूस शाहनवाज ने टिकट कटने की यह बताई वजह
 

आतंकी मसूद के भाई असगर पर भी प्रतिबंध लगाने की तैयारी


DEEP KRISHAN SHUKLA 25/02/2019 08:52:14
159 Views

New Delhi. पुलवामा हमले के बाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत के पक्ष में खड़े होने वाले देशों की फेहरिस्त दिन पर दिन लम्बी होती जा रही है। फ्रांस ने बीते दिनों संयुक्त राष्ट्र संघ में आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव रखने के संकेत दिए थे। भारत और फ्रांस संयुक्त रूप से पाकिस्तान पर दबाव बनाने के अन्य तरीकों पर भी विचार कर रहे हैं। 

maulana Masud Ajhar ke bhai asgar  par bhi pratibandh prastav ki chal rahi taiyari

सूत्रों से मिली जानकारी पर गौर करें तो आतंकी मौलाना मसूद अजहर के अलावा उसके भाई और आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के अन्य कमांडरों पर भी प्रतिबंध का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र में पेश किए जाने की तैयारी चल रही है। 

बता दें कि पठानकोट हमले में मौलाना मसूद अजर का भाई अब्दुल रौफ असगर भी आरोपी है। भारत और फ्रांस सरकार संयुक्त रूप से इन दोनों भाईयों पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी कर रही हैं। सूत्रों की मानें तो यूएन में इसका प्रस्ताव रखने के लिए फाइल तैयार होना शुरू हो गया है।

maulana Masud Ajhar ke bhai asgar  par bhi pratibandh prastav ki chal rahi taiyari

हालांकि अभी तक यह स्पष्ट संकेत नहीं मिल सके हैं कि आतंकी असगर और अन्य जैश कमांडरों के नाम मसूद अजहर वाले प्रस्ताव में पेश किए जाते हैं या फिर इन्हें संयुक्त राष्ट्र संघ की सेक्शन कमेटी के तहत प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव अलग से पेश किया जाता है।

यूएन में अपने प्रस्ताव पेश करने के लिए फ्रांस ने यूरोपीय देशों से सम्पर्क करना शुरू कर दिया है।

वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान ने फ्रांस की इस पहल को कमजोर करने के लिए अपने मित्र देशों से मुलाकाते और बातचीत बढ़ाने शुरू कर दिए है।

maulana Masud Ajhar ke bhai asgar  par bhi pratibandh prastav ki chal rahi taiyari

चीन एक बार फिर अटका सकता है प्रयासों में रोड़ा 

पाकिस्तान का मददगार चीन, भारत और फ्रांस के इस प्रयास में रोड़ा अटकाने का काम कर सकता है। ऐसे कयास इसलिए लगाए जा रहे हैं, क्योकि वर्ष 2017 में चीन ऐसा कर चुका है।

मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव पर चीन ने यह कहते हुए अपने वीटो पावर का इस्तेमाल किया था कि उसे प्रतिबंधित करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं।

वर्तमान में पाकिस्तान और चीन की दोस्ती को देख कर यही माना जा रहा है कि चीन पिछली बार के अपने रवैये पर कायम रह सकता है। यह बात जरूर है कि ऐसा करने से चीन की अंतर्राष्ट्रीय ​स्तर पर किरकिरी हो सकती है। 

maulana Masud Ajhar ke bhai asgar  par bhi pratibandh prastav ki chal rahi taiyari
  मसूद अजहर ज्यादा सक्रिय रहता है असगर
मौलाना मसूद अजहर का भाई अब्दुल रौफ असगर भारत के खिलाफ अक्सर जहर उगलता रहता है। पठानकोट हमले में उसके साथ इब्राहिम अतहर और शाहिद लतीफ भी शामिल थे। कश्मीर एकजुटता दिवस के दिन असगर ने भारत को आतंकवाद से दहलाने की बात भी कही थी। वह भारत विरोधी गतिविधियों में अपने भाई मसूद अजहर से भी एक कदम आगे है। 


यह भी पढ़े...पाक सांसद ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से की मुलाकात,कहा पुलवामा कांड में पाकिस्तान शामिल नहीं...

Web Title: maulana Masud Ajhar ke bhai asgar par bhi pratibandh prastav ki chal rahi taiyari ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया