मुख्य समाचार
अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल बच्चों में गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार भी जरूरी : ब्रजेश पाठक  रवि किशन ने राहुल को दी नसीहत, सीरियस नहीं हुए तो राजनीति से करियर खत्म योगी सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी नहीं असरदार कार्य कर रही है : उप मुख्यमंत्री जय श्रीराम न बोलने पर बागपत में मौलाना की पिटाई सावन की पूर्णिमा व अमावस्या पर होगी भव्य गंगा आरती पहले दूसरे जाति की लड़की से की शादी, फिर बेइज्जती के डर से पत्‍नी की करवा दी हत्या
 

दो बड़ी अर्थ व्यवस्थाओं के बीच ट्रेड वार खत्म होने बन रहे आसार


DEEP KRISHAN SHUKLA 05/03/2019 14:34:46
168 Views

New Delhi. चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वार को खत्म करने की दिशा में चीन सार्थक पहल करने की तैयारी में है। इसके लिए चीन में विदेशी निवेश का नया कानून लागू किए जाने का तानाबाना बुना जा रहा है। उधर अमेरिका ने भी चीन कई मांगे की है जिनमें प्रमुख रूप से टेक्नालाजी एक्सचेंज और बौद्धिक संपदा अधिकार(आईपीआर) को कानूनी सुरक्षा देने जैसे मुद्दे हैं। 

do badi arthvyavasthaon ke beech trade war khatm hone ke ban rahe aasar
चीन और अमेरिका दुनियां की बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं। चीन और अमेरिका के बीच एक साल से जबरदस्त ट्रेड वार चल रहा है। बता दें कि इस ट्रेड वार की शुरूआत बीत वर्ष मार्च माह में हुई थी। 
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के चीन से आयात होने वाले इस्पात और अल्युमीनियम पर भारी टैरिफ लगाने से चीन नाराज हो गया था। 

do badi arthvyavasthaon ke beech trade war khatm hone ke ban rahe aasar
चीन ने इसका जवाब उसी के अंदाज में अमेरिका को दिया था। चीन ने भी अमेरिका से आयात होने वाले अरबो रुपए के माल पर भारी टैरिफ लगा दिए थे। इस तकरार को एक साल पूरा होने के बाद  अब संबंधों को सुधारने की दिशा में पहल शुरू हुई है। 

do badi arthvyavasthaon ke beech trade war khatm hone ke ban rahe aasar
नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के प्रवक्ता झांग येसुई ने सोमवार को बताया कि आठ मार्च को नए कानून का मसौदा एनपीसी में प्रस्तुत किया जाएगा। 
समीक्षा के बाद इस पर 15 मार्च को वोटिंग होगी। विदेशी निवेश का नया कानून पारित करने की वजह पूछे जाने पर उनका कहना था कि दोनों देशों के बीच कड़वाहट का किसी को लाभ नहीं मिलने वाला है। चीन और अमेरिका के हितों का बेहर करीबी जुड़ाव है। 

यह भी पढ़े...नित समृद्ध होते आईटी क्षेत्र में वेब सुरक्षा आवश्यक
 

 

 

 

Web Title: do badi arthvyavasthaon ke beech trade war khatm hone ke ban rahe aasar ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया