राष्ट्रीय मदरसा बोर्ड का गठन जल्द किया जाए : जावेद मलिक


MOHD ATHAR RAZA 06/03/2019 19:19:55
84 Views

Lucknow. राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग एवं उत्तर प्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग की ओर से कलाम सेंटर केजीएमयू परिसर में एक सेमिनार का आयोजन किया गया, जिसमें "अल्पसंख्यक समुदाय के बच्चों के शिक्षा के अधिकार के हालात पर विचार विमर्श किया गया।

National Madrasa Board to be formed in the country as soon as possible: Javed Malik

 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक शिक्षा निगरानी समिति के सदस्य जावेद मलिक ने कहा कि अल्पसंख्यक समाज खासकर मुस्लिम समुदाय के बच्चों में शिक्षा का स्तर सबसे कम है, आज भी लगभग देश मे 8.50 करोड़ बच्चे शिक्षा से वंचित हैं, जिनमें सबसे ज्यादा बच्चे मुस्लिम समुदाय से आते हैं।

उन्होंने कहा कि शिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009 का फायदा मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों को भी मिले और शिक्षा अधिकार 2009 के प्रावधानों को लागू करने के लिए मदरसों को नियमों में छूट मिले।

जावेद मलिक ने देश में एक राष्ट्रीय मदरसा बोर्ड बनाने व मदरसों के लिए एक जैसा पाठ्यक्रम बनाने की मांग पर भी जोर दिया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि उप्र वक्फ विकास निगम के निदेशक शफाअत हुसैन ने कहा कि मदरसों में भी छात्रसंघ के तहत चुनाव कराए जाएं, जिससे छात्र हितों का संरक्षण हो सकें।

उन्होंने मदरसों में कंप्यूटरीकृत शिक्षा पर जोर दिया व सरकार द्वारा दी जा रही योजनाओं को विस्तार से बताया।

कार्यक्रम में बाल अधिकार संरक्षण आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्य डॉ. सुचिता चतुर्वेदी ने कहा कि अल्पसंख्यक संस्थानों को भी शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत लाया जाए।

 

National Madrasa Board to be formed in the country as soon as possible: Javed Malik

 

उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड के सदस्य ज़िरगामुद्दींन ने कहा कि मदरसों में NCERT की पुस्तकों को उर्दू माध्यम से पढ़ाया जाए और NIOS के सेंटर मदरसों में निशुल्क दिए जाएं। 

कार्यक्रम मे राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के तकनीकी विशेषज्ञ रजनीकांत ने बाल अधिकारों पर रौशनी डाली। रजनीकांत ने शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009 में आ रहीं मुश्किलों से निकलने का रास्ता भी सुझाया। 

कार्यक्रम में मुख्यरूप से मोहम्मद अनीस, प्रवीण श्रीवास्तव, मौलाना तबरेज खान, अरमान खान ने भी अपने विचार रखे।

Web Title: National Madrasa Board to be formed in the country as soon as possible ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया