जोया ने यौन शोषण वाली फिल्मों पर उठाए सवाल, कहा सहमति से संबंध...


NAZO ALI SHEIKH 10/03/2019 14:09:48
70 Views

Mumbai. बॉलीवुड इंडस्ट्री की मशहूर डॉयरेक्टर जोया अख्तर ने फिल्मों में यौन शोषण जैसे दृश्यों को फिल्माए जाने पर बड़ा सवाल उठाते हुए डायरेक्टर्स को आड़े हाथों लिया है। जोया कि फिल्म 'गली ब्वॉय', ने बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त धमाल मचाया था। 

यह भी पढ़ें... सोनाक्षी ने फैन्स की लगाई क्लास, कहा- लाइन मारो लेकिन ऑनलाइन नहीं...

joya ne yaun shoshan wale filmon par uthae sawal, kaha sahmati se sambandh...

उन्होंने 'दिल धड़कने दो' और 'लक बाय चांस' जैसी फिल्मों से अपनी अलग पहचान बनाई। डायरेक्टर जोया का मानना है कि फिल्मों में शारीरिक संबंध की अपेक्षा यौन शोषण रेप जैसी चीजों को अधिक दिखाया जाता है। इसका बच्चों के दिमाग पर बड़े होने के बाद बुरा असर पड़ता है। 

जोया ने 'विमिन शेपिंग द नैरेटिव इन मीडिया ऐंड एंटरटेनमेंट' विषय पर खुलकर बात रखी। कहा कि जब काफी छोटी उम्र में ही बच्चे इस तरह का शीन देखते हैं, तो दिमाग पर असर पड़ता है। जब बच्चे बड़े होते हैं, तो इसका असर दूसरे रूप में दिखने लगता है। जब वह बड़ी हो रहीं थीं तो उन्होंने इस बात को फील किया कि हिन्दी फिल्मों में यौन शोषण की स्टोरियों पर ही मूवीयां बनाई और दिखाई जाती हैं।

joya ne yaun shoshan wale filmon par uthae sawal, kaha sahmati se sambandh...

जोया कहती हैं कि यह बेहद ही अजीब भरा होता है कि शारीरिक संबंध सहमति से बनाया दिखाए जाने के बजाए रेप जैसे शीन दिखाए जाते हैं। शोषण और उत्पीड़न देखकर बच्चों के दिमाग पर बुरा असर होता है।फिल्मों सबसे अधिक ये दृश्य ही देखने को मिलते हैं कि महिलाओं के न कहने के बाद भी पुरुष टूट पड़ते हैं।

यह भी पढ़ें... कलंक में आलिया का कातिलाना अंदाज लोगों को आ रहा पसंद

हालांकि, बचपन में इन सब बातों को अधिक समझने की क्षमता नहीं होती। लेकिन जब बचपन से निकलकर बड़े होते हैं, तो यह फील करते हैं कि इसे चेन्ज किया जाए। फिल्मों में दिखाए जाने वाले इस तरह के दृश्य समाज में गलत धारणा को बढ़ावा देते हैं।

Web Title: joya ne yaun shoshan wale filmon par uthae sawal, kaha sahmati se sambandh... ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया